Top Hindi Jankari

TOP HINDI JANKARI हिंदी वेबसाइट पर आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में जानकारी दी जाती है । यह वेबसाइट बनाने का मुख्य कारण है हिंदी भाषा से आपको विभिन्न प्रकार के जानकारियां आप तक सही तरीके से पहुंचे ।

ANM Course Details in Hindi – ANM कोर्स क्या है ?

नमस्कार दोस्तों , आज के लेख में बात करेंगे ANM Course Details in Hindi, ANM कोर्स क्या है? यदि आप ANM बनना चाहते हैं तो ये सब जानकारी जानना जरूरी है जैसे : ANM कोर्स के लिए प्रवेश प्रक्रिया कैसे होती है? उम्र सीमा क्या होती है? योग्यता क्या होती है? सिलेबस कैसे होती है? इस कोर्स की तैयारी कैसे करे? कोर्स की अवधि क्या होती है ? फीस क्या होती है? वेतन कितनी मिलती है और ANM कोर्स करने के बाद जॉब किस- किस जगह पर मिलती है | ANM से जुड़े और भी जानकारी जानने के लिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें | आइए विस्तार से जानते हैं : ANM Course Details in Hindi

ANM Course Details in Hindi

ANM कोर्स क्या होता है? (ANM Course Details in Hindi)

ANM कोर्स नर्सिंग में डिप्लोमा कोर्स होता है | ANM का पूरा नाम Auxiliry Nurse Midwifery है | इस कोर्स की अवधि 2 वर्ष की होती है , इसके अंतर्गत मानव एनाटॉमी , बायोलॉजी , माइक्रोबायोलॉजी , बायोलॉजीकल साइंस , समाजशास्त्र , व्यवहार विज्ञान , मनोविज्ञान , नर्सिंग के बुनियादी सिध्दांत आदि के बारें जानकारी दी जाती है |

ANM के कार्य क्या – क्या होती है ?

ANM का कोर्स ज्यादातर महिलाएँ करती है | इस कोर्स को करने के बाद गाँवों में अधिक नौकरी मिलती है जैसे :

  • टीका लगाना
  • मरीजों की देख रेख करना
  • इलाज के दौरान काम आने वाले सभी उपकरणों का इस्तेमाल कैसे किया जाता है इस के बारे में बताया जाता है|
  • ANM का कार्य डॉक्टर द्वारा इलाज के दौरान उसका मदद करता है|
  • मरीजों के रिकार्ड्स का रखरखाव का कार्य करता है आदि|

ANM कोर्स के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या होनी चाहिए ?

  • आपको 12वीं में 45% अंकों के साथ पास होना चाहिए 
  • 12वीं में आपका विज्ञान संकाय (स्ट्रीम) होना चाहिए
  • कई कॉलेज ऐसे हैं जहाँ से आर्ट्स के स्टूडेंट्स भी ANM का कोर्स कर सकते हैं
  • उम्मीदवार को चिकित्सकीय रूप से फिट होना चाहिए और उसे घोषित करने वाला प्रमाण पत्र प्रदान करना पड़ सकता है

ANM कोर्स के लिए उम्र सीमा क्या रखा गया है?

  • ANM कोर्स के लिए न्यूनतम उम्र 17 वर्ष और अधिकतम 35 वर्ष रखा गया है |

ANM कोर्स के लिए प्रवेश प्रक्रिया क्या होती है ?

  • इसमें आपका एडमिशन आपके साक्षात्कार (इंटरव्यू) के आधार पर किया जाता है|
  • साक्षात्कार में सामान्य ज्ञान पूछे जाते हैं|
  • कई कॉलेज में मेरिट बेस पर भी एडमिशन देती है , जिसमें आपके 12th के अंकों के आधार पर आपको एडमिशन दिया जाता है|
  • कई कॉलेजों में प्रवेश प्रक्रिया के लिए परीक्षा भी आयोजन किया जाता है |

ANM का सिलेबस क्या होता है? (ANM Course Syllabus In Hindi)

यह कोर्स 2 साल का होता है , जिसमे दोनों साल में अलग -अलग कोर्स पढ़ने होते हैं |

प्रथम वर्ष का सिलेबस :

  • Health Promotion
  • Community Health Nursing
  • Primary Health Care Nursing
  • Child Health Nursing

दितीय वर्ष का सिलेबस :

  • Midwifery
  • Health Center Management

 

ANM कोर्स के लिए फीस क्या रहती है?

  • ANM कोर्स की फीस सरकारी और प्राइवेट कॉलेज में अलग-अलग होती है|
  • ANM की कोर्स 2 साल में 10 हजार से लेकर 50 हजार रुपए तक फीस  होती है , वह अपने कॉलेज पर निर्भर करती है |
  • अगर आप सरकारी कॉलेज में एडमिशन लेते हैं , तो आपको 5 हजार से 7 हजार रुपए सालना फीस देनी पड़ती है|
  • प्राइवेट कॉलेज की फीस की बात करें तो ये कॉलेज द्वारा निर्धारित किया जाता है |

ANM नर्सिंग के बाद करियर विकल्प :

डिप्लोमा पूरा करने के बाद ANM नर्सिंग फ्रेशर के पास कई विकल्प होते हैं। वे सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता, होम नर्स, स्वास्थ्य आगंतुक, बुनियादी स्वास्थ्य कार्यकर्ता और ग्रामीण स्वास्थ्य कार्यकर्ता के रूप में शामिल होकर नर्सिंग में अपना करियर शुरू कर सकते हैं। नीचे अन्य जॉब प्रोफाइल हैं जिनमें ANM नर्सिंग डिप्लोमा धारक, कुछ अनुभव प्राप्त करने के बाद, इस क्षेत्र में काम करने की उम्मीद कर सकते हैं:

  • Community Health Nurse
  • ICU Nurse
  • Staff Nurse
  • Nursing Tutor
  • Certified Nursing Assistant
  • Senior – Nurse Educator
  • Home Care Nurse
  • Teacher – Nursing School
  • Health Care Nurse

ANM की जॉब लगने के बाद वेतन कितनी मिलती है?

  • अगर हम सरकारी नौकरी की बात करें तो 25 हजार से 35 हजार रुपए प्रतिमाह मिलती है|
  • अगर प्राइवेट सेक्टर की बात करें तो अलग -अलग अस्पतालों के अनुसार उनके नियमों के आधार पर निर्भर करती है | शुरुआत में प्राइवेट जॉब में 10 हजार से 12 हजार रुपए तक हर महिना वेतन मिल सकती है|
  • आपके काम के अनुभव के आधार पर आपका वेतन भी बढ़ाया जाता है |

ANM के लिए  आवश्यक कौशल क्या है?

ANM नर्सिंग पाठ्यक्रमों के लिए आवश्यक कुछ कौशलों का उल्लेख नीचे किया गया है:

  • Checking and Monitoring Vital Signs
  • Urgent Care and Emergency Care
  • Patient and Family
  • Education Patient Safety
  • Technology Skills
  • Time Management
  • Professionalism
  • Communication Skills

भारत में शीर्ष ANM कॉलेज :

फीस: INR 20,000

  • Shri Guru Ram Rai University, Dehradun

फीस: INR 50,000

  • Indira Gandhi School and College of Nursing

फीस: INR 67,000

  • Assam Down Town University

फीस: INR 90,000

  • Teerthanker Mahaveer University

फीस: INR 48,000

ये भी पढ़ें :

FAQ :

प्रश्न : एएनएम के कार्य क्या होते हैं ?

उत्तर : ANM डॉक्टर के इलाज के दौरान उनके कार्य में मदद करती है | इसके साथ ही ANM मरीजों की देखभाल भी करती है | मरीजों के रिकार्ड्स का रखरखाव करने का कार्य भी ANM के द्वारा किया जाता है |

प्रश्न : नर्स के कोर्स को क्या कहते हैं ?

उत्तर : नर्स के कोर्स को General Nursing and Midwifery के नाम से भी जानते हैं | इसे हम स्टाफ नर्स भी कह्ते हैं | जनरल नर्सिंग और मिडवाइफरी का कोर्स 3 साल का होता है | इस कोर्स में सामान्य स्वास्थ्य देखभाल नर्सिंग और दाई के कार्य से सम्बधित परिक्षण दिया जाता है | GNM में नर्सिंग पाठ्यक्रम में सामान्य नर्सों के कार्यों से सम्बंधित परिक्षण दिया जाता है |

प्रश्न : नर्स कोर्स कितने प्रकार के होते हैं ?

उत्तर : मेडिकल – सर्जिकल नर्सिंग , बाल स्वास्थ्य नर्सिंग , मानसिक स्वास्थ्य नर्सिंग दाई का काम और प्रसूति नर्सिंग |

प्रश्न : नर्सिंग के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है ?

उत्तर : ANM व GNM के आलावा देश भर में फैले हुए विभिन्न नर्सिंग स्कूल -कॉलेजों से नर्सिंग में स्नातक भी किया जा सकता है | इसके लिए नयूनतम योग्यता 45% अंकों के साथ अंग्रेजी , भौतिक , रासायनिक एवं जीव विज्ञान में बारहवीं उत्त्तीर्ण रखी गयी है | इसके लिए आपके आयु कम से कम 17 वर्ष होना चाहिए |

प्रश्न : नर्सिंग में सबसे अच्छा कोर्स कौन सा है?

उत्तर : कंपेयर करें तो सबसे अच्छा कोर्स बीएससी नर्सिंग है और यह एक डिग्री कोर्स है | जबकि बाकि दोनों कोर्स डिप्लोमा कोर्स है यही इनमे अंतर भी है | बीएससी नर्सिंग के बाद जॉब के विकल्प अधिक प्राप्त होते हैं | जबकि एएनएम और जीएनएम में केवल नर्सिंग ही विकल्प होते हैं |

FINAL ANALYSIS :

इस आर्टिकल में हमने जाना ANM Course Details in Hindi, ANM कोर्स क्या है?और ANM से जुड़े हर जानकारी आपको विस्तार से बता दिया गया है | आशा करता हूँ आप इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद अच्छे से समझ गए होंगे | अगर आप ANM बनकर अस्पतालों में डॉक्टर के साथ मरीजों का सेवा करना , लोगों को टिकाकरण करना या फिर दाई बनकर गर्भवती और छोटे बच्चे का सेवा करना चाहते हैं , तो ऐसे में आपके लिए ANM बनना लोगों के लिए गर्भ की बात होगी | लेकिन हाँ इस काम में आपको कभी -कभी परेशानियों सहने की क्षमता भी होना चाहिए | क्योंकि बीमार लोगों का कब क्या हो जाये आपको उसका सब समय ध्यान रखना होगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top