Top Hindi Jankari

TOP HINDI JANKARI हिंदी वेबसाइट पर आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में जानकारी दी जाती है । यह वेबसाइट बनाने का मुख्य कारण है हिंदी भाषा से आपको विभिन्न प्रकार के जानकारियां आप तक सही तरीके से पहुंचे ।

BPT Course details in Hindi – BPT क्या है?

दोस्तों , आज के लेख में बात करेंगे BPT कोर्स क्या है?, BPT Course details in Hindi, BPT कोर्स की योग्यता क्या है ? इस कोर्स को सफलता पूर्वक करने के लिए किस तरह के आवश्यक प्रश्न की जरूरत है? BPT कोर्स का सिलेबस क्या है? BPT में प्रवेश कैसे प्राप्त करें? BPT कोर्स प्रदान करने वाले शीर्ष संस्था कौन से हैं? कोर्स की फीस संरचना क्या है? BPT कोर्स करने के बाद करियर की संभवनाएं और जॉब प्रोफाइल क्या है? BPT के बाद वेतन कितना हो सकता है ? आदि के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी इस लेख में बताने वाला हूँ , इसलिए लेख को अंत तक जरूर पढ़ें | आइए विस्तार से जानते हैं : BPT Course details in Hindi

BPT Course details in Hindi

BPT Course क्या है? (BPT Course details in Hindi)

BPT या BACHELOR OF PHYSIOTHERAPY चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्रों में से एक स्नातक शैक्षणिक पाठ्यक्रम है जिसे Physiotherapy के रूप में जाना जाता है | Physiotherapy रोगियों को उपचार प्रदान करने के लिए व्यायाम मालिस और अन्य तौर तरीकों का उपयोग करती है | हल्चर और उम्र बढ़ने से उत्पन्न रोग ,चोट ,पर्यावरण कारकों से होने वाले बीमारी का इलाज Physiotherapy करता है| BPT की अवधि साढ़े 4 साल है | इसमें 6 महीने की इंटर्नशिप भी शामिल है | PHYSICAL THERAPY प्रोग्राम संभावित छात्रों को MANUAL THERAPY चिकित्सा व्यायाम और इलेक्ट्रो फिजिकल तौर तरीकों के अनुप्रयोग जैसे मुख्य कौशल प्रदान करते हैं |विभिन्न भौतिकी चिकित्सा कॉलेज हैं जो PHYSIOTHERAPY पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं |

BPT कोर्स किसे करना चाहिए?

BPT COURSE विशेष रूप से उन लोगों के लिए है , जो बीमार या घायल के लिए करूणा रखते हैं | PHYSIOTHERAPY बहुत चुनौतीपूर्ण कोर्स है क्योंकि इसको करने वाले को लम्बे समय तक काम करने और जबरदस्त धेर् रखने की जरूरत होती है | क्योंकि कुछ रोगी तात्काली उपचार का प्रतिक्रिया नहीं दे सकती है | इस क्षेत्र में कठोर शिक्षा के आलावा काम के प्रकृति के कारण बहुत अधिक शारीरिक सहन शक्ति की जरूरत होती है |

BPT Course के लिए योग्यता क्या है ?

  • जो उम्मीदवार BACHELOR OF PHYSIOTHERAPY में प्रवेश लेना चाहते हैं , उसे किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से भौतिकी , रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान के साथ मुख्य विषयों के रूप में 12वीं उत्तीर्ण होना जरूरी है |
  • सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए न्यूनतम 50 % अंक होना जरूरी है |
  • SC/ST/OBC या किसी अन्य आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए 45 % अंक होना जरूरी है |

BPT COURSE को करने के लिए आवश्यक कौशल क्या है?

इस कोर्स को करने के लिए इच्छुक उम्मीदवारों के पास कुछ विशेष कौशल होना चाहिए जैसे:

  • दर्द के क्षेत्र की पहचान करने और उनके अनुसार उपचारों को लागुकारने की क्षमता
  • रोगियों के साथ सम्बन्ध विकसित करने और उनका विश्वास बनाने की क्षमता
  • रोगियों को सुनने और उन्हें मार्गदर्शन देने के लिए अत्यधिक धेर्य होना चाहिए
  • दूसरों के बीच सकारात्मकता को बढ़ावा देने की कला होनी चाहिए
  • रोगियों को देखने में समय का पाबंद होना चाहिए
  • अन्य डॉक्टरों के साथ -साथ एक टीम के साथ काम करने की क्षमता चाहिए
  • अपने काम के प्रति बहुत समर्पित होना चाहिए

BPT Course का सिलेबस क्या है ?

इस कार्यक्रम में नामांकित छात्रों को Manual Therapy ,व्यायाम और उपचार की इलेक्ट्रो फिजिकल मूल के अनुप्रयोग से सम्बंधित कौशल के बारे में पढ़ाया जाता है | जो रीढ़ , गर्दन ,पीठ और यहाँ तक के तनाव से सम्बंधित समस्याओं से जुड़ी कई तरह की अवश्यकताओं और बिमारियों का ईलाज किया जाता है | पाठ्यक्रमों को 8 सेमेस्टर में विभाजित किया गया है |

 First Year-1 

Semester I Semester II
Anatomy Biomechanics
Physiology Psychology
Biochemistry Sociology
Basic Nursing Orientation to Physiotherapy
English

 

2nd Year :

Semester III Semester IV
Pathology Exercise Therapy
Microbiology Electrotherapy
Pharmacology Research Methodology and Biostatistics
First Aid and CPR Introduction to treatment
Constitution of India Clinical Observation Posting

 

3nd Year :

Semester V Semester VI
General Medicine Orthopedics and sports physiotherapy
General Surgery Supervised Rotary clinical training
Orthopedics and traumatology Allied Therapies

 

4th Year :

Semester VII Semester VIII
Neurology and neurosurgery Supervised Rotary clinical Training
Community medicine Ethics, Administration, and supervision
Neuro- Physiology Evidence-based physiotherapy and practice
Community-based rehabilitation Research project

 

उम्मीदवारों द्वारा अंतिम परीक्षाओं में इन सभी विषयों को पास करने के बाद 6 महीने के लिए इंटर्नशिप कार्यक्रम शुरू होता है | जो सम्बंधित विश्वविद्यालय द्वारा मान्यता प्राप्त शिक्षण अस्पताल में की जाती है |

BPT Course की प्रवेश प्रक्रिया कैसे रहता है?

विभिन्न कॉलेजों विश्वविद्यालयों में BPT के लिए प्रवेश प्रक्रिया अलग -अलग होती है जैसे :

  • कुछ संस्था अपनी प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं , कुछ राज्य स्तर या राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा स्वीकार करते हैं|
  • कुछ संस्थानों में नामांकन 10 +2 परीक्षा में प्रदर्शन के आधार किया जाता है |

कुछ लोकप्रिय प्रवेश परीक्षा जो BPT पाठ्यक्रम में प्रवेश पाने के लिए ले सकते हैं | वे निम्नलिखित हैं :

  • IPU CET – INDRAPRASTHA UNIVERSITY COMMON ENTRANCE TEST
  • LPUNEST – LOVELY PROFESSIONAL UNIVERSITY NATIONAL
  • ELIGIBILITY & SCHOLARSHIP TEST
  • IEMJEE – INSTITUTE OF ENG. & MANAGEMENT JOINT ENTRANCE EXAM
  • BCECE BIHAR COMBINED ENTRANCE COMPETITIVE EXAMINATION

BPT कोर्स के लिए टॉप संस्थान :

BPT पाठ्यक्रम प्रदान करने वाले विभिन्न सरकारी और निजी संस्था हैं | अगर आप सरकारी या सार्वजानिक संस्थानों में जाना चाहते हैं तो आप जा सकते हैं|

सरकारी संस्था के नाम :

  • GOVERNMENT PHYSIOTHERAPY COLLEGE, GUJRAT
  • GOVERNMENT MEDICAL COLLEGE, MAHARASTRA
  • PUNJABI UNIVERSITY, PATIALA, PUNJAB
  • KHALSA COLLEGE, AMRITSAR
  • NIZAMS INSTITUTE OF MEDICAL SCIENCES, HYD ERABAD
  • INSTITUTE OF POSTGRADUATE MEDICAL EDUCATION AND RESEARCH KOLKATA 

निजी संस्था :

  • CHRISTIAN MEDICAL COLLEGE , LUDHIANA & VELLORE
  • INSTITUTE OF PARAMEDICAL SCIENCE, KERALA
  • OASIS COLLEGE OF SCIENCE AND MANAGEMENT, PUNE

BPT Course फीस कितना है?

BPT कोर्स की फीस कॉलेज पर निर्भर रहता है , सरकारी और निजी कॉलेज में फीस अलग-अलग होती है|

  • GOVERNMENT INSTITUTE में 1 लाख रूपये प्रति वर्ष
  • PRIVATE INSTITUTES में 3 से 4 लाख रूपये प्रति वर्ष तक हो सकती है|

BPT Course पूरा करने के बाद करियर की संभावनाएं और जॉब प्रोफाइल क्या है?

PHYSIOTHERAPY एक पेशेवर स्नातक डिग्री है | पाठ्यक्रम के पूरा होने के ठीक बाद नौकरी सुनिश्चित करती है | अब आप हॉस्पिटल और फिजियोथेरेपी क्लीनिक में एक योग्य HEALTHCARE प्रोफेशनल के रूप में काम कर सकते हैं या अपना खुद का क्लिनिक स्थापित कर सकते हैं और स्वतंत्र रूप से अभ्यास कर सकते हैं 

BPT Course पूरा करने के बाद निम्नलिखित पदों और जगहों में जॉब कर सकते हैं :

  • ASSISTANT PHYSIOTHERAPIST
  • PHYSIOTHERAPIST
  • SPORTS PHYSIO REHAMBILITOR
  • THERAPY MANAGER
  • LECTURER
  • RESEARCHER
  • OSTEOPATH
  • CUSTOMER CARE ASSISTANT
  • CONSULTANT
  • HOSPITALS/ HEALTH INSTITUTIONS
  • DEFENSE MEDICAL ESTABLISHMENTS
  • FITNESS CENTERS, EDUCATIONAL INSTITUTIONS
  • PHYSIOTHERAPY EQUIPMENT MANUFACTURERS
  • ORTHOPEDIC DEPARTMENTS

BPT Course करने के बाद वेतन की संभावनाएं क्या है?

कोर्स पूरा करने के बाद शुरुआत में 30,000 रूपये प्रतिमाह से अधिक वेतन प्राप्त कर सकते हैं | सीनियर फिजियोथेरेपी 70,000 रूपये प्रतिमाह तक कमा सकते हैं |

ये भी पढ़ें : BA LLB Course Details In Hindi

 

FAQ :

प्रश्न : BPT कोर्स की फीस कितनी है?

उत्तर : कोर्स की फीस कॉलेज अपने हिसाब से तय करते हैं | सरकारी कॉलेज में कोर्स फीस बहुत कम होते हैं | परन्तु प्राइवेट कॉलेज में सरकारी कॉलेज के तुलना में कई गुना अधिक फीस लिया जाता है | फिर भी यदि एवरेज कोर्स की बात करें तो लगभग 50000 रूपये से लेकर 700000 तक हो सकते हैं |

प्रश्न : BPT कोर्स कितने साल का है?

उत्तर : यह चार वर्षीय डिग्री कोर्स होता है | इस कोर्स की अवधि 4 वर्ष होती है |

प्रश्न : फिजियोथेरेपी कैसे बने?

उत्तर : फिजियोथेरेपी बनने के लिए जरूरी है की उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त विश्विद्यालय या संसथान से विज्ञान विषयों के साथ 12वीं उत्तीर्ण होना चाहिए और फिजियोथेरेपी के क्षेत्र में 2 वर्ष का डिप्लोमा कोर्स किया हुआ होना चाहिए | कुछ संगठनों में ओपरेशन फिजियोथेरेपी में बैचलर डिग्री माँगा जाता है |

FINAL ANALYSIS :

इस लेख में हमने जाना BPT कोर्स क्या है?, BPT Course details in Hindi, और BPT कोर्स के बारे में सम्पूर्ण जानकारी आपको दे दी गई है | आशा करता हूँ आप इस लेख को पढ़ने के बाद अच्छे से समझ गए होंगे | यदि आप भी BPT कोर्स करके एक फिजियोथेरेपी में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो इस लेख को ध्यान से पढयेगा ताकि अच्छे से याद हो सके |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top