Top Hindi Jankari

TOP HINDI JANKARI हिंदी वेबसाइट पर आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में जानकारी दी जाती है । यह वेबसाइट बनाने का मुख्य कारण है हिंदी भाषा से आपको विभिन्न प्रकार के जानकारियां आप तक सही तरीके से पहुंचे ।

BSc MLT Course Details In Hindi – बीएससी एमएलटी कोर्स क्या है?

नमस्कार दोस्तों, आज के लेख में बात करेंगे BSc MLT Course Details In Hindi, बीएससी एमएलटी कोर्स क्या है? अगर आप भविष्य मेडिकल क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं तो B.Sc MLT कोर्स के बारे में जरूर सुना होगा| लेकिन इस कोर्स को करने के लिए शैक्षिक योग्यता क्या होना चाहिए? एडमिशन प्रक्रिया क्या है? कोर्स फीस कितनी होती है? B.Sc MLT कोर्स की अवधि कितनी होती है? B.Sc MLT कोर्स को करने के बाद जॉब प्रोफाइल क्या होता है और सैलरी कितनी होती है? ये सभी सवालों के बारे में विस्तार से इस आर्टिकल में जानेंगे, आइए जानते हैं : BSc MLT Course Details In Hindi

BSc MLT Course Details In Hindi

BSc MLT कोर्स क्या है? (What Is BSc MLT Course In Hindi)

मेडिकल लैब टेक्नीशियन का फील्ड उन लोगों के लिए अच्छा है, जिन लोगों की रुचि मेडिकल और रिसर्च में है| इसके बाद B.Sc in MLT यानि B.Sc in Medical lab Techinician कोर्स कर इस क्षेत्र में करियर बना सकते हैं| इस कोर्स की अवधि 3 साल की होती है| आज के समय में अनेक कॉलेज और यूनिवर्सिटी में ये कोर्स संचालित किया जाता है|

B.Sc MLT कोर्स का विवरण (BSc MLT Course Details In Hindi)

कोर्स का नाम B.Sc. (Medical Laboratory Technology)
फुल फॉर्म Bachelor of Science in Medical Laboratory Technology
स्तर स्नातक
अवधि 3 साल
पात्रता किसी भी मान्यता प्राप्त शिक्षा बोर्ड से 10+2 में 50% अंक
प्रवेश प्रक्रिया प्रवेश परीक्षा और मेरिट-आधारित
औसत ट्यूशन फीस INR 10K – 4L प्रति वर्ष  
नौकरी की स्थिति मेडिकल लेबोरेटरी टेक्निशियन, क्लिनिकल लेबोरेटरी टेक्निशियन, फ्लेबोटोमिस्ट, क्लिनिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजिस्ट, मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजिस्ट, लैब टेक्नोलॉजिस्ट, बायोकेमिस्ट, मेडिकल फेलबोटोमिस्ट आदि।
औसत वेतन INR 2L – 6L प्रति वर्ष  

 

B.Sc MLT कोर्स के लिए योग्यता क्या होना चाहिए?

  • BSc MLT कोर्स के लिए PCB से 12th पास होना जरूरी है|
  • PCMB स्टूडेंट भी BSc MLT कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं|
  • 12th क्लास में 45-50% अंक होना अनिवार्य है|
  • BSc MLT कोर्स की अवधि 3 साल की होती है|

BSc MLT की फीस कितनी होती है?

BSc MLT कोर्स की फीस एवरेज फीस लगभग 1 लाख से 3 लाख रूपये हो सकते हैं|
गवर्नमेंट कॉलेजों में कोर्स फीस प्राइवेट कॉलेज से कुछ कम हो सकती है|

BSc MLT में एडमिशन प्रक्रिया क्या है?

बीएससी एमएलटी पाठ्यक्रम में प्रवेश आमतौर पर प्रवेश आधारित होता है लेकिन कुछ कॉलेज और विश्वविद्यालय इस पाठ्यक्रम के लिए सीधे प्रवेश देते हैं। योग्यता परीक्षाओं में प्राप्त अंकों को छात्रों को प्रवेश देने के उद्देश्य से माना जाता है।

मेरिट आधारित :

  • योग्यता के आधार में प्रवेश 12वीं में प्राप्त अंकों के हिसाब से किया जाता है|
  • अगर आपको 12वीं में अच्छा खासा अंक मिला है तो आप अच्छे कॉलेज में प्रवेश लें सकते हैं|
  • मेरिट आधारित प्रवेश के लिए सबसे पहले कॉलेज में आवेदन देना पड़ता है|
  • इसके बाद कॉलेज द्वारा सूची तैयार करते हैं|
  • अगर आपका नाम उस सूची में रहता है तो आपको प्रवेश मिल जाता है|

प्रवेश परीक्षा आधारित प्रवेश :

  • आवश्यक प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन करने के बाद, संबंधित कॉलेजों के नियमों के अनुसार, उम्मीदवारों को निर्धारित तिथि और समय पर प्रवेश परीक्षा के लिए उपस्थित होना होगा।
  • प्रवेश परीक्षा का देने के बाद, संचालन निकाय उम्मीदवारों के नाम के साथ उनके स्कोर और रैंक के साथ उपयुक्त मेरिट सूची जारी करते हैं।
  • अन्य विषयों के विपरीत, चिकित्सा संस्थान उम्मीदवारों को प्रवेश देने के लिए परामर्श प्रक्रियाओं पर निर्भर करते हैं।
    प्रवेश परीक्षा और संस्थान द्वारा तैयार की गई योग्यता सूची के अनुसार उम्मीदवारों के रैंक और अंकों के आधार पर, प्रत्येक उम्मीदवार को अधिकृत निकाय द्वारा आयोजित परामर्श प्रक्रियाओं के लिए उपस्थित होने के लिए कहा जाएगा।
    परामर्श केंद्र पर, उम्मीदवारों को अपने पसंदीदा पाठ्यक्रम और कॉलेज / विश्वविद्यालय का चयन करने के लिए कहा जाएगा।
  • मेडिकल कॉलेज या संस्थान पूरी तरह से प्रवेश परीक्षा में आवेदकों द्वारा प्राप्त रैंक और अंकों के आधार पर करते हैं|

BSc MLT के लिए प्रवेश परीक्षा :

बीएससी एमएलटी में प्रवेश या तो प्रवेश परीक्षा आधारित है या योग्यता आधारित है। एक प्रवेश-आधारित पद्धति में, छात्रों को किसी भी संबंधित कॉलेज या विश्वविद्यालय में प्रवेश लेने के लिए एक प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करने की आवश्यकता होती है। बीएससी एमएलटी पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए छात्रों को शॉर्टलिस्ट करने के लिए आयोजित कुछ शीर्ष प्रवेश परीक्षाएं नीचे दी गई हैं:

  • JEE Mains – जेईई का फुल फॉर्म ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन होता है। यह एक राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है जो राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) द्वारा वर्ष में दो बार आयोजित की जाती है। परीक्षा की अवधि 3 घंटे यानी 180 मिनट की होती है और प्रत्येक सही उत्तर में +4 अंक औरग लत उत्तरों के लिए -1 अंक होते हैं।
  • JEE Advanced – संयुक्त प्रवेश परीक्षा [जेईई] एडवांस, जिसे पहले भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान-संयुक्त प्रवेश परीक्षा के रूप में जाना जाता था, एक व्यापक संख्या में शैक्षणिक संस्थानों और कॉलेजों में प्रवेश के लिए भारत भर में आयोजित एक प्रवेश परीक्षा है। जेईई एडवांस सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है। आईआईटी, एनआईटी, आईआईआईटी आदि जैसे शीर्ष संस्थान छात्रों को जेईई एडवांस में उनके प्रदर्शन के आधार पर प्रवेश प्रदान करते हैं। सभी प्रश्नों को हल करने के लिए उम्मीदवारों को 3 घंटे का समय मिलता है।
  • JNUEE – जेएनयूईई का फुल फॉर्म जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा है। जेएनयूईई का आयोजन राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) द्वारा किया जाएगा। यह एक विश्वविद्यालय स्तर की परीक्षा है जो इंजीनियरिंग, कानून, विज्ञान, मानवता आदि के विभिन्न क्षेत्रों में प्रवेश देने के लिए आयोजित की जाएगी।

बीएससी एमएलटी कोर्स प्रवेश परीक्षा की तैयारी कैसे करें?

किसी भी प्रवेश परीक्षा में सफल होने के लिए जिम्मेदार कारकों को तय करना एक छात्र के लिए सबसे महत्वपूर्ण है नवीनतम परीक्षा पैटर्न से अच्छी तरह अवगत होना। यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जिनका पालन सभी उम्मीदवारों को बीएससी एमएलटी की प्रवेश परीक्षा की तैयारी करते समय करना चाहिए:

  • उम्मीदवारों को एक उचित अध्ययन योजना बनानी चाहिए ताकि वे परीक्षा से पहले अच्छी तैयारी कर सकें और अच्छे अंक प्राप्त कर सकें।
  • पाठ्यक्रम को जानना बहुत महत्वपूर्ण है जो छात्रों को परीक्षा के समय आवश्यक विषयों और मुख्य बिंदुओं पर ध्यान केंद्रित रखने में मदद करता है।
  • उम्मीदवारों को परीक्षा से पहले अधिक अभ्यास और संशोधन करने की आवश्यकता है ताकि इससे उन्हें पहले पढ़े गए विषयों को याद रखने में मदद मिले ताकि परीक्षा के दिन अनावश्यक दबाव कम हो।
  • आपकी प्रवेश परीक्षा के लिए एक परीक्षण तैयारी पुस्तक होने से आपको इस बात से परिचित होने में मदद मिल सकती है कि परीक्षा में किस प्रकार के प्रश्न पूछे जाएंगे, उन्हें कैसे लिखा जाता है, और परीक्षा के स्कोरर उत्तर में क्या खोज रहे हैं।

BSc MLT कोर्स का पाठ्यक्रम (BSc MLT Syllabus In Hindi)

BSc MLT कोर्स में अध्ययन किया जाने वाले सब्जेक्ट इस प्रकार है :

सेमेस्टर-1 :

  • Human Anatomy I (मानव शरीर रचना I)
  • Human Physiology-I (मानव शरीर क्रिया विज्ञान-I)
  • Biochemistry-I (जैव रसायन-I)
  • Health Education & Health Communication (स्वास्थ्य शिक्षा और स्वास्थ्य संचार)
  • PC Software Lab (पीसी सॉफ्टवेयर लैब)
  • Human Anatomy-I Lab (ह्यूमन एनाटॉमी-I लैब)
  • Human Physiology-I Lab (ह्यूमन फिजियोलॉजी-I लैब)
  • Biochemistry-I Lab (बायोकेमिस्ट्री-I लैब)

सेमेस्टर-2 :

  • Human Anatomy II (मानव शरीर रचना II)
  • Human Physiology II (मानव शरीर क्रिया विज्ञान II)
  • Biochemistry II (जैव रसायन II)
  • Bio-Medical Waste Management (जैव चिकित्सा अपशिष्ट प्रबंधन)
  • Human Anatomy-II (ह्यूमन एनाटॉमी-II)
  • Practical: Human Physiology-II (प्रैक्टिकल: ह्यूमन फिजियोलॉजी- II)
  • Practical: Biochemistry-I (प्रैक्टिकल: बायोकैमिस्ट्री-I)
  • Communication Lab (संचार प्रयोगशाला)

सेमेस्टर-3 :

  • Pathology-I (पैथोलॉजी-I)
  • Clinical Haematology-I (क्लिनिकल हेमेटोलॉजी-I)
  • Microbiology-I (माइक्रोबायोलॉजी-I)
  • Immunology & Serology-I (इम्यूनोलॉजी और सीरोलॉजी-I)
  • Histopathology & Histotechniques -I (हिस्टोपैथोलॉजी और हिस्टोटेक्निक -I)
  • Clinical Haematology-I Lab (क्लिनिकल हेमेटोलॉजी- I लैब)
  • Microbiology, Immunology & Serology – I Lab (माइक्रोबायोलॉजी, इम्यूनोलॉजी और सीरोलॉजी – I लैब)
  • Histopathology & Histotechniques -I Lab (हिस्टोपैथोलॉजी और हिस्टोटेक्निक-I लैब)

सेमेस्टर-4 :

  • Pathology – II (पैथोलॉजी – II)
  • Clinical Haematology-II (क्लिनिकल हेमेटोलॉजी-II)
  • Microbiology-II (माइक्रोबायोलॉजी-II)
  • Immunology & Serology-II (इम्यूनोलॉजी और सीरोलॉजी-II)
  • Histopathology & Histotechniques -II (हिस्टोपैथोलॉजी और हिस्टोटेक्निक -II)
  • Clinical Haematology-II Lab (क्लिनिकल हेमेटोलॉजी- II लैब)
  • Microbiology, Immunology & Serology – II Lab (माइक्रोबायोलॉजी, इम्यूनोलॉजी और सीरोलॉजी – II लैब)
  • Histopathology & Histotechniques -II Lab (हिस्टोपैथोलॉजी और हिस्टोटेक्निक -II लैब)

सेमेस्टर-5 :

  • Immunohematology & Blood Banking (इम्यूनोहेमेटोलॉजी और ब्लड बैंकिंग)
  • Clinical Enzymology & Automation (नैदानिक ​​​​एंजाइमोलॉजी और स्वचालन)
  • Parasitology & Virology (पैरासिटोलॉजी और वायरोलॉजी)
  • Diagnostic Cytology (डायग्नोस्टिक साइटोलॉजी)
  • Principles of Lab Management & Medical Ethics (लैब प्रबंधन और चिकित्सा नैतिकता के सिद्धांत)
  • Clinical Enzymology Lab (क्लिनिकल एंजाइमोलॉजी लैब)
  • Parasitology & Virology Lab (पैरासिटोलॉजी और वायरोलॉजी लैब)
  • Diagnostic Cytology Lab (डायग्नोस्टिक साइटोलॉजी लैब)

सेमेस्टर-6 :

  • Clinical Endocrinology &Toxicology (क्लिनिकल एंडोक्रिनोलॉजी एंड टॉक्सिकोलॉजी)
  • Advanced Diagnostic Techniques (उन्नत नैदानिक ​​तकनीक)
  • Diagnostic Molecular Biology (डायग्नोस्टिक मॉलिक्यूलर बायोलॉजी)
  • Clinical Endocrinology & Toxicology Lab (क्लिनिकल एंडोक्रिनोलॉजी एंड टॉक्सिकोलॉजी लैब)
  • Advanced Diagnostic Techniques Lab (उन्नत नैदानिक ​​तकनीक लैब)
  • Diagnostic Molecular Biology Lab (डायग्नोस्टिक मॉलिक्यूलर बायोलॉजी लैब)
  • Internship Project (इंटर्नशिप परियोजना)

बीएससी एमएलटी की पढ़ाई क्यों करें?

BSc MLT उन छात्रों के लिए एक आदर्श पाठ्यक्रम है जो चिकित्सा क्षेत्र में खुद को सहज बनाना चाहते हैं क्योंकि इस पाठ्यक्रम में स्नातक आवश्यक प्रशिक्षण से गुजरेंगे और कुशलता से काम करने के लिए आवश्यक कौशल प्राप्त करेंगे।

  • चिकित्सा विज्ञान स्वास्थ्य क्षेत्र में रुचि रखने वाले उम्मीदवारों द्वारा शामिल किए गए बेहतरीन और सबसे अधिक मांग वाले पाठ्यक्रमों में से एक है।
  • चिकित्सा प्रयोगशाला तकनीशियन किसी भी चिकित्सा गतिविधि के कामकाज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
    बीएससी एमएलटी पाठ्यक्रम में ऐसे विषय शामिल हैं जो उम्मीदवारों को उन्नत उपकरणों को संभालने के लिए आवश्यक कौशल से लैस करते हैं ताकि सटीक प्रयोगशाला परीक्षण कर सकें।
  • यह डिग्री कोर्स छात्रों को विभिन्न शैक्षिक, अस्पतालों, सरकारी में जाने का अधिकार देता है क्योंकि वे प्रयोगशाला, परामर्श सेवाएं, स्वास्थ्य देखभाल केंद्र चला सकते हैं।
  • यह डिग्री धारक को मास्टर डिग्री और फिर आगे की पढ़ाई के लिए संबंधित विषयों में उच्च डिग्री कार्यक्रमों के लिए जाने में सक्षम बनाता है।

बीएससी एमएलटी के बाद करियर विकल्प :

BSc MLT के बाद करियर के भरपूर अवसर प्रदान करता है, आप इस कोर्स के बाद सरकारी और निजी संस्था में कार्य कर सकते हैं, कई चिकित्सा प्रयोगशाला तकनीशियन पैथोलॉजी प्रयोगशालाओं, अनुसंधान प्रयोगशालाओं, मूत्र रोग विशेषज्ञों के कार्यालयों, फार्मास्यूटिकल्स, अस्पतालों और कई अन्य क्षेत्रों में रोजगार पा सकते हैं।

BSc MLT के बाद आप निम्नलिखित पदों में जॉब कर सकते हो:

  • सीटी स्कैन तकनीशियन
  • पैथोलॉजी तकनीशियन
  • एमआरआई तकनीशियन
  • ऑप्टिकल प्रयोगशाला तकनीशियन
  • एक्स-रे तकनीशियन
  • डेंटल मशीन तकनीशियन
  • रेडियोलॉजी तकनीशियन
  • प्रयोगशाला के तकनीशियन
  • प्रयोगशाला प्रबंधक
  • चिकित्सा अधिकारी
  • शोध सहयोगी
  • मेडिकल रिकॉर्ड तकनीशियन
  • निवासी चिकित्सा अधिकारी
  • प्रयोगशाला सहायक
  • प्रयोगशाला परीक्षण प्रबंधक
  • सहयोगी

BSc MLT के बाद जॉब फील्ड क्या क्या हो सकते हैं?

BSc MLT कोर्स मेडिकल से सम्बंधित कोर्स होता है इसलिए आपका जॉब मेडिकल क्षेत्र में ही होगा जैसे:

  • Hospital
  • Military Services
  • University Colleges
  • Blood Donor Center
  • Lab Technician
  • Lab Technologist
  • Laboratory Manager
  • Supervisor
  • Health and Safety officer
  • Consultant

BSc MLT कोर्स के बाद सैलरी कितनी मिलती है?

  • अगर आप प्राइवेट सेक्टर में जॉब करेंगे तो शरुआती सैलरी 8000 – 10000 रूपये महीने मिल सकती है|
  • अगर आप गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब करेंगे तो 15000 – 20000 रूपये के आस पास सैलरी मिल सकता है|
  • काम में अनुभव होने के साथ साथ आपके सैलरी में बढ़ोतरी होती है|

ये भी पढ़ें :

FAQ :

प्रश्न : लैब टेक्नीशियन कोर्स की फीस कितनी है?

उत्तर : लैब टेक्नीशियन की फीस सरकारी कॉलेज में मुख्यतः 15 से 20 हजार रुपए प्रति वर्ष होता है , वहीं प्राइवेट कॉलेज की फीस 60 से 80 हजार रुपए प्रति वर्ष होता है |

प्रश्न : क्या हम MLT के बाद DMLT कर सकते हैं?

उत्तर : बिलकुल कर सकते हैं |

प्रश्न: एमएलटी में बीएससी का स्कोप क्या है?

उतर: किसी के प्रशिक्षण और योग्यता के आधार पर, एमएलटी पेशेवर चिकित्सा प्रयोगशालाओं में प्रौद्योगिकीविद् या तकनीशियन के रूप में काम कर सकते हैं। कोई तकनीशियन के रूप में काम करके शुरुआत कर सकता है। कार्य अनुभव प्राप्त करने के बाद, व्यक्ति पदों के माध्यम से उठ सकता है और प्रयोगशाला प्रबंधक भी बन सकता है।

प्रश्न: क्या बीएससी एमएलटी एक अच्छा कोर्स है?

उत्तर: बीएससी एमएलटी एक अच्छा कोर्स है क्योंकि यह पाठ्यक्रम संबंधित क्षेत्रों में नई तकनीकों के साथ विविधतापूर्ण है और प्रतिकूल कैरियर के अवसरों के साथ और एक व्यक्ति के पास निजी और साथ ही सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा क्षेत्रों, नैदानिक ​​केंद्रों के साथ-साथ प्रयोगशालाओं में एक सुरक्षित नौकरी हो सकती है।

प्रश्न: क्या मैं बीएससी एमएलटी के बाद फोरेंसिक में एमएससी में शामिल हो सकता हूं?

प्रश्न: हाँ आप कर सकते हैं। आपको एडमिशन सेल चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी से संपर्क करना चाहिए।

FINAL ANALYSIS :

इस लेख में हमने जाना की BSc MLT Course Details In Hindi, बीएससी एमएलटी कोर्स क्या है? और BSc MLT कोर्स के बारे में सारी जानकारी विस्तार से बताया गया है| आशा करता हूँ आप इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद बीएससी MLT के बारें में अच्छे से समझ गए होंगे| अगर आप अपना करियर मेडिकल के क्षेत्र में बनाना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए हेल्फुल साबित हो सकता है| इस BSc MLT Course Details In Hindi लेख को पढ़ने के लिए धन्यवाद|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top