Top Hindi Jankari

TOP HINDI JANKARI हिंदी वेबसाइट पर आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में जानकारी दी जाती है । यह वेबसाइट बनाने का मुख्य कारण है हिंदी भाषा से आपको विभिन्न प्रकार के जानकारियां आप तक सही तरीके से पहुंचे ।

DTP Computer Course In Hindi – DTP Computer कोर्स क्या है?

नमस्कार दोस्तों , आज के लेख में बात करेंगे DTP Computer Course in Hindi, DTP कंप्यूटर कोर्स क्या है? अगर आप कंप्यूटर के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो DTP कोर्स के बारे में आवश्य सुना होगा | लेकिन DTP कंप्यूटर कोर्स में एडमिशन के लिए निम्नलिखित जानकारी जानना अति आवश्यक है जैसे DTP कोर्स फीस कितनी होती है ? एडमिशन प्रक्रिया कैसी होती है ? कोर्स की अवधि कितनी होती है ? यह कोर्स कौन कर सकता है ? DTP कोर्स करने के बाद जॉब विकल्प कहाँ हो सकता है और सैलरी कितनी हो सकती है | आइए इन सवालों के जवाब इस DTP Computer Course in Hindi लेख में विस्तार से जानेंगे |

DTP Computer Course in Hindi

DTP कंप्यूटर कोर्स क्या है? (DTP Computer Course in Hindi)

DTP जिसे Desktop Publishing के नाम से भी जाना जाता है , यह प्रकाशन की एक नई टेक्नोलॉजी है , जिसके द्वारा कंप्यूटर और कुछ सॉफ्टवेयर का उपयोग करके ग्राफिक का कार्य किया जाता है | जिसमें न्यूज़ पेपर , किताब , कार्ड्स आदि छपाई की जाती है |

DTP में क्या सिखाया जाता है?

दोस्तों सबसे पहले बता देना चाहता हूँ की इसके अंदर जो भी सॉफ्टवेयर सिखाया जाता है वो सारे सॉफ्टवेयर ग्राफिक डिजाईनिंग से सम्बंधित ही होता है | जैसे –

  • Adobe Photoshop 7.0 ( Required)
  • Adobe Page Maker 7.0 (optional ),

जब Corel draw सिख लेंगे तो …

  • Corel Draw (Required)
  • Adobe Flash (optional)
  • Microsoft PowerPoint (Required)
  • Microsoft Publish (optional)

DTP कोर्स की अवधि कितनी होती है?

DTP कितने दिनों में पूरा होगा ये आपके इंस्टिट्यूट पर निर्भर करता है, मगर ये कोर्स ज्यादा दिन तक नहीं होता है आप इस कोर्स को 4-5 महीने में पूरा कर सकते हैं |

DTP कोर्स कौन कर सकता है?

  • DTP कोर्स के लिए कम से कम दसवीं पास होना जरूरी है |
  • नौवीं कक्षा में पढ़ रहें स्टूडेंट भी इस कोर्स को कर सकते हैं |
  • अगर स्टूडेंट का पहले से इंटरमीडिएट किया हुआ है तो उसको इस कोर्स लिए ज्यादा मान्यता दिया जाता है |

DTP कोर्स कैसे इंस्टिट्यूट से करना चाहिए?

आप DTP किसी भी इंस्टिट्यूट से कर सकते हैं , मगर इस बात का ध्यान रहें की जहाँ DTP सिखने जा रहें हैं वहां पर सारे सॉफ्टवेयर के बारे में सामान्य से लेकर एडवांस लेवल तक सिखाया जाता है या नहीं वरना DTP का सर्टिफिकेट लेने से कोई फ़ायदा नहीं होगा | क्योंकि DTP ही ऐसा एक कंप्यूटर कोर्स है जिसमें सर्टिफिकेट नहीं बल्कि प्रक्टिकल करके बताना पड़ता है तभी आपको जॉब दिया जाता है |

DTP करने के बाद किस प्रकार के कंपनी में जॉब लगेगी?

दोस्तों पहले आपको बता चूका हूँ की, DTP एक ग्राफिक डिज़ाईनिंग का कोर्स है और जब भी जॉब लगेगा तो ग्राफिक डिजाईनिंग में ही लगेगा | मगर पैसा कमाने के अलग अलग तरीके हो सकते हैं |

DTP कोर्स में कितना खर्चा होता है?

फीस का खर्चा इंस्टिट्यूट पर निर्भर करता है , क्योंकि हर इंस्टिट्यूट खुद से तय करती हैं की कितना फीस रखना है | फिर भी लगभग फीस आपको बता देता हूँ न्यूनतम 5000-7000 रूपये और अधिकतम 10000-15000 रूपये से ज्यादा नहीं होता है |

DTP के बाद सैलरी कितनी मिलती है?

अगर आप DTP कोर्स कम्पलीट कर लेते हैं तो आपको किसी भी ग्राफिक डिजाईनिंग वाले कंपनी जाकर 15000-30000 रूपये प्रतिमाह कमा सकते हैं |

ये भी पढ़ें :

FAQ :

प्रश्न : डेस्कटॉप पब्लिशिंग का क्या उपयोग है?

उत्तर : डेस्कटॉप पब्लिशिंग के द्वारा हम डिजिटल पेज बना सकते हैं , जो की कंप्यूटर / मोबाइल में देखने के लिए होते हैं | वर्चुअल पेज जो फिजिकल फोर्मेट यानि प्रिंट पेज पर ट्रांसफर होते हैं | डेस्कटॉप की सहायता से पूरी तरह प्रिंट करने योग्य डक्यूमेंट्स तैयार करना ही डेस्कटॉप पब्लिश कहलाता है |

प्रश्न : DTP में प्रिंटिंग में क्या महत्त्व है?

उत्तर : DTP में प्रूफ रीडिंग का कार्य भी स्पेल चेकर के माध्यम से किया जा सकता है , जिससे समय की भी बचत होती है | DTP की सहायता से लघु तथा वृहद दोनों स्तर पर प्रकाशन संभव है | इस तकनीक की सहायता से कोई भी व्यक्ति या संगठन कम लगत में ही घर बैठे अपने पर्सनल कंप्यूटर के माध्यम से टाइपिंग और प्रिंटिंग कर सकता है |

प्रश्न : व्यावसायिक DTP पैकेज क्या है?

उत्तर : डेस्कटॉप पब्लिशिंग , संक्षेप में DTP , प्रकाशन की एक इलेक्ट्रॉनिक कला है , जिसके द्वारा कम्युनिकेशन सामग्री का निर्माण विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक टूल्स का उपयोग करके किया जाता है | इस कार्य में कंप्यूटर , DTP प्रोग्राम्स , प्रिंटिंग मशीन तथा ऑपरेटर्स शामिल होते हैं | इसकी शरुआत माननीय जेम्स दाविस ने सन 1983 में की थी |

प्रश्न : फॉन्ट साइज़ क्या है?

उत्तर : डाक्यूमेंट्स के पूरे भाग या उसके किसी भी भाग का फॉन्ट साइज़ बदला जा सकता है | आमतोर पर पेज पर दो या तीन फॉन्ट साइज़ का प्रोयोग करना अच्छा मन जाता है | शीर्षक के लिए बड़ा फॉन्ट साइज़ , टेक्स्ट के लिए सामान्य आकार तथा टिप्पणी आदि के लिए छोटा फॉन्ट साइज़ का प्रोयोग किया जाता है |

FINAL ANALYSIS:

इस लेख में हमने जाना की DTP Computer Course in Hindi, DTP कंप्यूटर कोर्स क्या है? और DTP Computer कोर्स के बारे में विस्तार से बताया गया है | मुझे उम्मीद है की इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप अच्छे से जान गए होंगे | इसलिए अगर आप अपना करियर सॉफ्टवेयर ग्राफिक डिजाईनिंग से सम्बंधित कार्य करना चाहते हैं , तो यह आर्टिकल आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top