Top Hindi Jankari

TOP HINDI JANKARI हिंदी वेबसाइट पर आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में जानकारी दी जाती है । यह वेबसाइट बनाने का मुख्य कारण है हिंदी भाषा से आपको विभिन्न प्रकार के जानकारियां आप तक सही तरीके से पहुंचे ।

Hockey Player कैसे बनें? – हॉकी कैसे खेला जाता है?

नमस्कार दोस्तों, आज के लेख में बात करेंगे “Hockey Player कैसे बनें?, हॉकी कैसे खेला जाता है?, दोस्तों, अगर आप हॉकी में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आप सही जगह पर आये हैं, यहाँ हम आपको हॉकी खेल से जुड़े जितने भी प्रश्न हैं, सभी प्रश्नों के उत्तर सरल तरीके से बताने वाले हैं|

जैसे की आपको पता है ही हॉकी को भारत का राष्ट्रीय खेल के रूप में मना जाता है, हमारे देश में क्रिकेट की लोकप्रियता बहुत अधिक है, जिसके कारण लोग हॉकी को कम फॉलो करते हैं|

Hockey Player कैसे बनें

हालाँकि टोकोयो ओलंपिक्स में पुरुष हॉकी टीम और महिला हॉकी टीम की शानदार प्रदर्शन ने भारत में हॉकी को फिर से लोकप्रिय बना दिया है, आज के समय में ऐसे बहुत से युवाओं का वर्ग है जो अपना करियर हॉकी में बनाना चाहते हैं, तो आइए जानते हैं: Hockey Player कैसे बनें?, हॉकी कैसे खेला जाता है?

हॉकी कैसे खेला जाता है?

  • प्रत्येक टीम में 11 खिलाड़ी और 6 विकल्प होते हैं।
  • प्रत्येक खिलाड़ी के पास एक हॉकी स्टिक होती है, जिससे वे गेंद को हिट करने के लिए स्टिक के केवल एक तरफ का उपयोग कर सकते हैं।
  • एक गॉल तब बनाया जाता है जब गेंद 16 यार्ड क्षेत्र के भीतर से प्रतिद्वंद्वी के गोल में सफलतापूर्वक हिट हो जाती है।
  • गेंद को छड़ी का उपयोग करके पास या ड्रिबल किया जाना चाहिए और शरीर के किसी अन्य भाग को जानबूझकर गेंद के संपर्क में आने की अनुमति नहीं है।

एक बेईमानी या उल्लंघन को तब कहा जाता है जब कोई खिलाड़ी:

  • जानबूझकर उस खिलाड़ी को नुकसान पहुंचाने के इरादे से दूसरे खिलाड़ी की गेंद को हिट करने की कोशिश करता है।
  • गेंद को हिलाने या रोकने में सहायता के लिए जानबूझकर शरीर के किसी अंग का उपयोग करता है।
  • उनकी हॉकी स्टिक के गोल किनारे से गेंद को हिट करता है।
  • उनकी छड़ी को कमर की ऊंचाई से ऊपर उठाएं।
  • खेल में हस्तक्षेप करने के लिए अपने विरोधियों से उनकी छड़ी मारो।

Hockey Player कैसे बनें?

हॉकी ख़िलाड़ी बनने के लिए आपको कड़ी मेहनत करना होगा, नीचें हम आपको कुछ सुझाव देंगे, जिसे फॉलो करके आप एक अंतर्राष्ट्रीय हॉकी ख़िलाड़ी बन सकते हैं, तो आइए जानते हैं वो पॉइंट क्या है: 

हॉकी के प्रति प्यार होना चाहिए:

किसी भी खेल में ख़िलाड़ी तभी अच्छे प्रर्दशन कर पाएंगे जब उसे उस खेल से प्यार हो, अगर आपका मन हॉकी में कम लगता है तो आप अधिक समय तक अभ्यास नहीं कर पाओगे, अगर आपको हॉकी खेलने में मजा आता है और आप हॉकी खेल को पसंद करते हैं तो आप आगे की तैयारी करना शुरू कर सकते हैं|

हॉकी अकादमी में प्रवेश लें:

हॉकी ख़िलाड़ी बनने का सबसे अहम चीज है किसी अच्छे अकादमी में प्रवेश लेना, बिना अकादमी में प्रवेश करके अंतर्राष्ट्रीय हॉकी ख़िलाड़ी बनना बहुत मुश्किल होता है, अकादमी में आपको अच्छे कोच मिल जाते हैं, कोच आपको आपके कमजोर और मजबूत क्षेत्र के बारें में बताते हैं, अकादमी में नये-नये तकनीक के बारें में सिखाने को मिलता है|

भारत में स्थित शीर्ष हॉकी के अकादमी :

  • Jai Bharat Hockey Academy, Delhi
  • Dhanraj Ballal Hockey Academy, Bengaluru
  • Jude Felix Hockey Academy, Bengaluru
  • Chandigarh Hockey Academy, Chandigarh
  • Maharaja Ranjit Singh Hockey Academy, Amritsar

रोजाना अभ्यास करें:

किसी भी चीजों में सफल होने के लिए consistency बहुत अनिवार्य है, आपको रोजाना कम से कम 5 घंटे तक अभ्यास करते रहना है,  आपको कई बच्चे ऐसे देखने को मिल जायेंगे जो अकादमी में प्रवेश करके सप्ताह में एक-दो बार ही अभ्यास करने जाते हो, अगर आपका सपना बड़ा ख़िलाड़ी बनने का हैं तो आप नियमित रूप में अभ्यास करें|

हर दिन दौड़ें:

हॉकी में दौड़ना अहम होता है, हर दिन आपको कम से कम 5 किलोमीटर दौड़ना है और यह आपके शरीर को अपनी चरम फिटनेस पर रखेगा। यदि संभव हो तो कुछ पहाड़ियों वाले मार्ग में दोड़ने का प्रयास करें, इससे आपको और भी बेहतर परिणामों मिलेंगे|

अपनी गति बढ़ाने के लिए व्यायाम करें:

हॉकी में फुर्तीला होना बहुत जरुरी है, ख़ासकर जब आप आगे की ओर से खेलते हैं, इसीलिए अपनी गति को बढ़ाने के लिए विभिन्न प्रकार के व्यायाम को करें, आप पैरों के व्यायाम करके अपने प्रतिद्वंद्वी से तेज हो सकते हो|

प्रतियोगता में भाग लेते रहे:

अपने खेल को बेहतर बनाने के लिए विभिन्न प्रतियोगिता में भाग लेते हैं, अगर आप स्कूल के छात्र हैं तो आप स्कूल स्तर के प्रतियोगिता में भाग लें और अगर आप कॉलेज छात्र हैं तो कॉलेज स्तर प्रतियोगिता में भाग लें, भाग लेने के बाद वहाँ पर अच्छे से प्रदर्शन करें, आप अकादमी के द्वारा होने वाले प्रतियोगिता में भाग लें सकते हैं|

SAI में Trial दें:

जब आप प्रतियोगिता में अच्छे से प्रदर्शन करने लगे, और लोग आपको तारीफ़ करने लगे की तुम बहुत अच्छे खेलते हो, और तुम्हारे कोच भी तुम्हारे खेल से प्रभावित हो जाये, तब आपको SAI (Sports Authority of India) में Trial देना हैं, SAI के Trial में अगर आप अच्छे से प्रदर्शन करते हो तो आप भारतीय हॉकी टीम का सदस्य बन जाते हैं| इस तरह आप हॉकी ख़िलाड़ी बन सकते हो| 

ये भी पढ़ें:

FAQ:

प्रश्न: हॉकी में कितने खिलाड़ी होते हैं?

उत्तर: हॉकी में 11 प्लेयर होते हैं|

प्रश्न: भारत में हॉकी का संचालन कौन करता है?

उत्तर: भारत में हॉकी का संचालन हॉकी इंडिया द्वारा होता है, जिसका ऑफिसियल वेबसाइट hockeyindia.org है|

प्रश्न: भारत में ओलोम्पिक में कितने स्वर्ण पदक जीते हैं?

उत्तर: भारत की हॉकी टीम ओलंपिक में अब तक की सबसे सफल टीम है, जिसने कुल आठ स्वर्ण पदक जीते हैं – 1928, 1932, 1936, 1948, 1952, 1956, 1964 और 1980 में। भारत का ओलंपिक इतिहास में सर्वश्रेष्ठ समग्र प्रदर्शन भी है। खेले गए 134 मैचों में से 83 जीत।

FINAL ANALYSIS :

आज के लेख में हमने जाना की Hockey Player कैसे बनें?, हॉकी कैसे खेला जाता है?, मुझे आशा है की आपको इस लेख के जरिये पता चल गया होगा की हॉकी प्लयेर कैसे करें, मैं आपके लिए मनोकामना करता हूँ की आप एक अच्छे हॉकी ख़िलाड़ी बनें और हमारे देश की शान बढायें, अगर आपको कुछ पूछना है तो हमें आप कमेंट करके पूछ सकते हो, इस लेख को पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top