Top Hindi Jankari

TOP HINDI JANKARI हिंदी वेबसाइट पर आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में जानकारी दी जाती है । यह वेबसाइट बनाने का मुख्य कारण है हिंदी भाषा से आपको विभिन्न प्रकार के जानकारियां आप तक सही तरीके से पहुंचे ।

ISRO में जॉब कैसे पाए? – ISRO में Scientist कैसे बनें?

नमस्कार दोस्तों, आज के इस लेख में बात करेंगे, ISRO में जॉब कैसे पाए?, ISRO में Scientist कैसे बनें?, दोस्तों आज के समय में वैज्ञानिको को बहुत सम्मान मिलता है, भारत के हर छात्र का सपना होता है की वो बड़े होकर वैज्ञानिक बनें, भारत की स्पेस एजेंसी ISRO है, जहाँ पर Space से जुड़े गतिविधियों को संचालन किया जाता है, दोस्तों, अगर आपको इसरो में वैज्ञानिक बनना है तो आपको इसके लिए 12वीं कक्षा से तैयारी शुरू कर देनी है, इस लेख में हम इसी से जुड़े सम्पूर्ण जानकारी देने वाले हैं, तो बिना किसी देरी के आइए जानते हैं: ISRO में जॉब कैसे पाए?, ISRO में Scientist कैसे बनें?

ISRO में जॉब कैसे पाए

ISRO में Scientist कैसे बनें?

ISRO (भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन दुनिया की सर्वश्रेष्ठ स्पेस एजेंसी में से एक है,  ISRO की स्थापना 15 अगस्त 1969 को हुआ था, ISRO का मुख्यालय बेंगलुरु शहर में स्थित है। ISRO ने कई मिशन सफलतापूर्वक लॉन्च किये हैं। Chandrayaan-1, Chandrayaan-2 और मिशन मंगल जैसे बड़े बड़े मिशन को सफलतापूर्वक पेश किये हैं| नीचें हम आपको ISRO में Scientist बनने की पूरी प्रक्रिया बता दिए हैं, आप इस लेख को अंत तक पढ़ें आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी|

ISRO में जॉब कैसे पाए?

दोस्तों अगर आपको ISRO में Scientist बनने की सपना देख रहे हैं तो आपको 12वीं कक्षा से ही तैयारी करना शुरू कर दें, नीचें हम आपको step by step प्रोसेस बता रहें हैं, जिसको फॉलो करके आप ISRO में वैज्ञानिक बन सकते हैं, तो आइए जानते हैं:

चरण 1: कक्षा 10 के बाद 12वीं में PCM स्ट्रीम का विकल्प चुनें:

सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण बात जो ISRO में जॉब पाने के लिए होता है, छात्रों को 12वीं में PCM (भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, और गणित) स्ट्रीम को चुनना चाहिए, और आपको अच्छे तरह से पढ़ना चाहिए, रटने की बजाय आपको समझ कर पढ़ना चाहिए, आपको 12वीं में गणितीय और भौतिक सिद्धांतों की समझ होनी चाहिए। 12वीं में कम से कम 75% अंकों से पास होना चाहिए, ये बुनियादी सिद्धांत आपको यह जानने में मदद करेंगे कि 12वीं के बाद इसरो में कैसे प्रवेश किया जाए।

चरण 2:  इंजीनियरिंग कोर्स करें:

12वीं पास करने के बाद आपको इंजीनियरिंग कोर्स करना होगा तभी आप इसरो में जॉब पा सकते हो, छात्रों को JEE Main और JEE Advanced के माध्यम से पेश किए जाने वाले कई इंजीनियरिंग कोर्सेज में से एक में दाखिला लेना चाहिए, छात्रों को कंप्यूटर साइंस, मैकेनिकल, रेडियो इंजीनियरिंग, अंतरिक्ष इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, इंजीनियरिंग भौतिकी जैसे पाठ्यक्रमों से B.Tech या B.E करना चाहिए|

इसरो IISc, IITs, NIT, और IIST से पास हुए स्नातकों को अतिरिक्त लाभ देते हैं, अगर आप इन संस्थाओं में इंजीनियरिंग पूरा करते हैं तो आपको इसरो में जॉब जल्दी मिल सकती है|

चरण 3- इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद ISRO में भर्ती के लिए ICRB प्रवेश परीक्षा दें:

इसरों में जॉब करने के लिए आपको ICRB एग्जाम देने होते हैं, ICRB में आवेदन के लिए उम्मीदवारों के पास कंप्यूटर साइंस, मैकेनिकल, रेडियो इंजीनियरिंग, एयरोस्पेस इंजीनियरिंग, विद्युत अभियन्त्रण, इंजीनियरिंग भौतिकी में बी.टेक या बीई की डिग्री होनी चाहिए, न्यूनतम 65 प्रतिशत अंकों के साथ या 6.8 सीजीपीए भी होना चाहिए तभी आप आवेदन कर सकते हैं|

ICRB एग्जाम में दो चरण होते हैं, पहला चरण ऑफ़लाइन राष्ट्रीय स्तर की लिखित परीक्षा है और लिखित परीक्षा पास करने के बाद, अगला चरण व्यक्तिगत साक्षात्कार होता है। इन चरणों के बाद, लिखित परीक्षा और साक्षात्कार में उम्मीदवारों के अंक, अन्य बातों के अलावा, अखिल भारतीय मेरिट सूची को संकलित करने के लिए उपयोग किया जाएगा। इसरो फाइनल कटऑफ पास करने वाले उम्मीदवार संगठन में शामिल होने के पात्र होंगे।

चरण 4: मास्टर या पीएचडी के बाद इसरो में भर्ती के लिए लिखित परीक्षा और PI:

Master’s or Ph.D. in Engineering करने के बाद भी आप ISRO में जॉब कर सकते हैं और Scientist बन सकते हैं| अगर आप मास्टर या पीएचडी करते हैं तो आप इसरो में सीधे आवेदन कर सकते हैं, इसरो में सीधे आवेदन के लिए चयन प्रक्रिया में एक लिखित परीक्षा और एक साक्षात्कार शामिल है। इसे पास करने के बाद उम्मीदवार इसरो में वैज्ञानिक के पद के लिए आवेदन कर सकेंगे।

ISRO में सैलरी कितनी होती है?

इसरो के वैज्ञानिकों को मासिक वेतन रु. 56100 से रु. 177500, वेतन और अन्य लाभ भी होते हैं। इसरो के साथ काम करने का एक फायदा नौकरी की सुरक्षा है और इसरो में काम करने वालों को बहुत सम्मान मिलता है। आप लंबे समय तक कार्यरत रहेंगे और आपकी नौकरी सुरक्षित रहेगी, और कर्मचारी सेवानिवृत्त होने पर पेंशन के लिए पात्र होंगे। सेवा सदस्यों के लिए कई और भत्ते और लाभ उपलब्ध हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • यात्रा के लिए भत्ते

  • महंगाई भत्ता

  • चिकित्सा सेवाएं

  • आवास लाभ

  • सेवानिवृत्ति के बाद पेंशन

  • परिवहन और अन्य उद्देश्यों के लिए सरकार द्वारा प्रदान किए गए वाहन

ये भी पढ़ें:

FAQ:

प्रश्न: इसरो क्या है?

उत्तर: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन, या इसरो, दुनिया की सबसे बड़ी अंतरिक्ष एजेंसियों में से एक है, जो अपनी लागत प्रभावी परियोजनाओं और नवीन प्रौद्योगिकी के लिए विख्यात है। इसकी स्थापना 15 अगस्त 1969 को हुई थी, जिसका मुख्यालय बेंगलुरु में है।

प्रश्नः इसरो में शामिल होने के लिए 11वीं में कौन सी स्ट्रीम चुननी चाहिए?

उत्तर: छात्रों को इसरो में शामिल होने के लिए अपने माध्यमिक विद्यालय के वर्षों (10 + 2) के दौरान पीसीएम विषय (भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित) लेना चाहिए।

प्रश्न: इसरो में शामिल होने के लिए मुझे कौन सा डिग्री कोर्स करना चाहिए?

उत्तर: बेहतरीन इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों की विस्तृत सूची के बावजूद, छात्रों को कंप्यूटर विज्ञान, मैकेनिकल, रेडियो इंजीनियरिंग, एयरोस्पेस इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, इंजीनियरिंग भौतिकी और अन्य संबंधित विषयों जैसे पाठ्यक्रमों में बी.टेक या बीई करना चाहिए।

प्रश्न: ग्रेजुएशन के बाद इसरो में किस प्रवेश परीक्षा में प्रवेश मिलता है?

उत्तर: इसरो केंद्रीकृत भर्ती बोर्ड (आईसीआरबी) परीक्षा स्नातक होने के बाद इसरो में प्रवेश प्राप्त करती है।

प्रश्न: इसरो में वैज्ञानिकों का अपेक्षित वेतन कितना है?

उत्तर: इसरो के वैज्ञानिकों को मासिक वेतन रु. 56100 से रु. 177500, वेतन और लाभ जैसे यात्रा भत्ता, घर का किराया, चिकित्सा सेवाएं आदि।

FINAL ANALYSIS:

आज के लेख में हमने जाना की ISRO में जॉब कैसे पाए?, ISRO में Scientist कैसे बनें? , मुझे आशा है की आपको इस लेख के जरिये ISRO जॉब के बारें में विस्तार से जानने को मिला होगा, अगर आपके मन में कुछ सवाल है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हो, इस लेख को पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top