Top Hindi Jankari

TOP HINDI JANKARI हिंदी वेबसाइट पर आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में जानकारी दी जाती है । यह वेबसाइट बनाने का मुख्य कारण है हिंदी भाषा से आपको विभिन्न प्रकार के जानकारियां आप तक सही तरीके से पहुंचे ।

ITI Electrician Syllabus In Hindi 2023 | आईटीआई इलेक्ट्रीशियन में कितने सब्जेक्ट होते है?

नमस्कार दोस्तों, आज के लेख में बात करेंगे “ITI Electrician Syllabus In Hindi, आईटीआई इलेक्ट्रीशियन में कितने सब्जेक्ट होते है?, क्या आप इलेक्ट्रीशियन के रूप में करियर बनाने पर विचार कर रहे हैं? औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) इच्छुक इलेक्ट्रीशियन के लिए एक विशेष कार्यक्रम प्रदान करते हैं, जिसे आईटीआई इलेक्ट्रीशियन पाठ्यक्रम के रूप में जाना जाता है। इस क्षेत्र में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए, आईटीआई इलेक्ट्रीशियन पाठ्यक्रम की ठोस समझ होना महत्वपूर्ण है। इस लेख में, हम आपको पाठ्यक्रम का विस्तृत अवलोकन प्रदान करेंगे, जिसमें शामिल प्रमुख सिलेबस और विषय शामिल होंगे। चाहे आप आईटीआई इलेक्ट्रीशियन पाठ्यक्रम को आगे बढ़ाने की योजना बना रहे छात्र हों या पाठ्यक्रम के बारे में उत्सुक हों, यह लेख एक मूल्यवान संसाधन के रूप में काम करेगा। तो आइए जानते हैं: ITI Electrician Syllabus In Hindi

ITI Electrician Syllabus In Hindi

आईटीआई इलेक्ट्रीशियन कोर्स क्या है?

ITI इलेक्ट्रीशियन कोर्स एक तकनीकी प्रशिक्षण प्रोग्राम है जो विद्यार्थियों को इलेक्ट्रीशियन क्षेत्र में एक पेशेवर करियर बनाने के लिए तैयार करता है। ITI का अर्थ होता है औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, जहां छात्रों को व्यावसायिक प्रशिक्षण प्राप्त करने का अवसर मिलता है। इस कोर्स की अवधि सामान्य रूप से 2 वर्ष होती है, जिसमें छात्रों को सिद्धांतों, अवधारणाओं, तकनीकी ज्ञान और व्यावसायिक कौशलों को समझाया जाता है।

ITI इलेक्ट्रीशियन कोर्स में विद्यार्थियों को बुनियादी और उन्नत विद्युत प्रणालियों, इलेक्ट्रिकल यंत्रों, इलेक्ट्रिकल इंस्ट्रुमेंट्स, मरम्मत और निरीक्षण के बारे में समझाया जाता है। छात्रों को विद्युत सुरक्षा, विद्युत न्यूनतम विचारशीलता, वायरिंग की तकनीक, उपकरणों का उपयोग, अवरोधक और प्रतिरोधी यंत्र, अनुकरणीय यंत्र, संचालन प्रणाली, और समस्याओं की मरम्मत करने का तरीका भी सिखाया जाता है।

यह पाठ्यक्रम छात्रों को साथ में सामरिक प्रशिक्षण भी प्रदान करता है, जहां उन्हें वास्तविक दुनिया के प्रयोगशाला में काम करने का अवसर मिलता है। ITI इलेक्ट्रीशियन कोर्स के सफल समापन के बाद, छात्र विभिन्न विद्युत संबंधित क्षेत्रों में रोजगार के लिए योग्य हो जाते हैं, जैसे इलेक्ट्रिकल कंट्रैक्टिंग कंपनियां, निर्माण कंपनियां, उत्पादन कंपनियां, विद्युत उत्पादन केंद्र, रखरखाव विभाग, और सरकारी संगठनों में।

ये भी पढ़ें: 10वीं के बाद मेडिकल कोर्स क्या-क्या है?

ITI Electrician Syllabus In Hindi 2023

निम्नलिखित टेबल में ITI इलेक्ट्रीशियन कोर्स का पाठ्यक्रम सेमेस्टरवार विभाजित है। इस पाठ्यक्रम में हर सेमेस्टर में विभिन्न विषयों पर ध्यान केंद्रित किया जाता है जो छात्रों को विद्युत इंजीनियरिंग क्षेत्र में विशेषज्ञता प्रदान करते हैं।

सेमेस्टर पाठ्यक्रम
पहला विद्युत यंत्रों की पहचान
विद्युतीय मापन
बुनियादी इलेक्ट्रिकल प्रणाली
इलेक्ट्रिकल सुरक्षा और न्यूनतम विचारशीलता
 
दूसरा वायरिंग और प्रणाली इंस्टॉलेशन
इलेक्ट्रिकल मशीन और उपकरण
साधारण प्रयोग और मरम्मत
इलेक्ट्रिकल ट्रांसफार्मर और मोटर
 
तीसरा इलेक्ट्रिकल मैचिनरी और इलेक्ट्रॉनिक्स
नियंत्रण प्रणाली
संचालन प्रणाली
 
चौथा नवीनतम टेक्नोलॉजी और पर्यावरणीय ऊर्जा
निरीक्षण और मरम्मत
औद्योगिक ट्रेनिंग और प्रदर्शन

 

यहां दिए गए पाठ्यक्रम केवल सारांश है और विभिन्न सेमेस्टरों में विस्तृत विषयों का अध्ययन किया जाता है। ITI इलेक्ट्रीशियन कोर्स के अंत में छात्रों को सेमेस्टरवार परीक्षाएं देनी होती हैं और सफलतापूर्वक समाप्त करने के बाद प्रमाणपत्र प्राप्त किया जा सकता है।

आशा है कि यह जानकारी आपके लिए उपयोगी सिद्ध होगी। यदि आप अधिक जानकारी चाहें, तो आप स्थानीय ITI संस्थान से संपर्क करके विवरण प्राप्त कर सकते हैं।

आईटीआई इलेक्ट्रीशियन में कितने सब्जेक्ट होते है? | ITI Electrician Subject List In Hindi

ITI इलेक्ट्रीशियन कोर्स छात्रों को विद्युत इंजीनियरिंग क्षेत्र में विशेषज्ञता प्रदान करने के लिए विभिन्न विषयों पर ध्यान केंद्रित करता है। यहां दिए गए हैं ITI इलेक्ट्रीशियन कोर्स के मुख्य विषय और उनका विवरण:

  • विद्युत यंत्रों की पहचान: इस विषय में छात्रों को विद्युत यंत्रों की पहचान करने की जानकारी प्राप्त होती है।
  • विद्युतीय मापन: इस विषय में छात्रों को विद्युतीय मापन और टेस्टिंग के तरीके सिखाए जाते हैं।
  • बुनियादी इलेक्ट्रिकल प्रणाली: यह विषय छात्रों को बुनियादी इलेक्ट्रिकल प्रणाली के अवधारणाओं और तत्वों के बारे में शिक्षा प्रदान करता है।
  • इलेक्ट्रिकल सुरक्षा और न्यूनतम विचारशीलता: इस विषय में छात्रों को विद्युत सुरक्षा और न्यूनतम विचारशीलता के नियमों के बारे में समझाया जाता है।
  • वायरिंग और प्रणाली इंस्टॉलेशन: इस विषय में छात्रों को वायरिंग और प्रणाली इंस्टॉलेशन की विधियों और तकनीकों का अध्ययन किया जाता है।
  • इलेक्ट्रिकल मशीन और उपकरण: यह विषय छात्रों को विभिन्न इलेक्ट्रिकल मशीन और उपकरणों के बारे में जानकारी प्रदान करता है।
  • साधारण प्रयोग और मरम्मत: इस विषय में छात्रों को साधारण प्रयोग और मरम्मत के तरीकों का अध्ययन किया जाता है।
  • इलेक्ट्रिकल ट्रांसफार्मर और मोटर: इस विषय में छात्रों को इलेक्ट्रिकल ट्रांसफार्मर और मोटर के बारे में विवरण प्रदान किया जाता है।
  • इलेक्ट्रिकल मैचिनरी और इलेक्ट्रॉनिक्स: यह विषय छात्रों को इलेक्ट्रिकल मैचिनरी और इलेक्ट्रॉनिक्स के बारे में विवरण प्रदान करता है।
  • नियंत्रण प्रणाली: इस विषय में छात्रों को नियंत्रण प्रणाली और उसके तत्वों के बारे में ज्ञान प्राप्त होता है।
  • संचालन प्रणाली: यह विषय छात्रों को संचालन प्रणाली और उसके तत्वों के बारे में विवरण प्रदान करता है।
  • विद्युतीय प्रकाश और उज्ज्वलता: इस विषय में छात्रों को विद्युतीय प्रकाश और उज्ज्वलता के संबंधित विषयों का अध्ययन किया जाता है।
ये भी पढ़ें: BBA करने के बाद सैलरी कितनी होती है?

आईटीआई इलेक्ट्रीशियन की परीक्षा पैटर्न कैसे होती है?

आपको ITI इलेक्ट्रीशियन पाठ्यक्रम के अंत में विभिन्न सेमेस्टर परीक्षाएं देनी होती हैं। इन परीक्षाओं के लिए निम्नलिखित पैटर्न अनुसार प्रश्न पेपर तैयार किए जाते हैं:

सेमेस्टर पेपर का नाम परीक्षा की अवधि पूछे गए प्रश्नों की संख्या
1 प्रथम पाठयक्रम 3 घंटे 100
2 द्वितीय पाठयक्रम 3 घंटे 100
3 तृतीय पाठयक्रम 3 घंटे 100
4 चतुर्थ पाठयक्रम 3 घंटे 100

 

परीक्षा पेपर में अक्षरित और मौलिक प्रश्न शामिल होते हैं। प्रश्नों का प्रारूप वास्तविक जीवन में समस्याओं को हल करने, तकनीकी ज्ञान को अद्यतन करने और कौशल का मूल्यांकन करने के लिए तैयार किया जाता है।

आपको प्रत्येक पेपर के लिए निम्नलिखित प्रश्नों के आधार पर मार्क्स दिए जाते हैं:

  • प्रश्नों की संख्या: 100
  • प्रत्येक सवाल के लिए मार्क्स: 1
  • प्रश्नों के प्रकार: वस्तुनिष्ठ और अवस्थानिक

यह परीक्षा पैटर्न वर्षभर बदल सकता है और आपके स्थानीय ITI संस्थान द्वारा जारी किए गए अधिसूचनाओं पर निर्भर करता है। इसलिए, परीक्षा के लिए सटीक जानकारी के लिए अपने ITI संस्थान से संपर्क करें।

FAQs:

1. आईटीआई इलेक्ट्रीशियन कोर्स आमतौर पर कितने समय तक चलता है?

उत्तर: आईटीआई इलेक्ट्रीशियन कोर्स की अवधि अलग-अलग संस्थानों में अलग-अलग होती है, लेकिन आम तौर पर यह लगभग दो साल की होती है।

2. आईटीआई इलेक्ट्रीशियन पाठ्यक्रम स्नातकों के लिए कैरियर के कुछ अवसर क्या हैं?

उत्तर: आईटीआई इलेक्ट्रीशियन पाठ्यक्रम स्नातक विद्युत अनुबंध फर्मों, विनिर्माण कंपनियों, बिजली संयंत्रों, निर्माण परियोजनाओं, रखरखाव विभागों और सरकारी संगठनों में रोजगार पा सकते हैं।

3. क्या आईटीआई इलेक्ट्रीशियन पाठ्यक्रम में शामिल होने के लिए कोई पूर्व शर्तें हैं?

उत्तर: आमतौर पर, आईटीआई इलेक्ट्रीशियन पाठ्यक्रम के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को अपनी माध्यमिक शिक्षा (10वीं कक्षा) या समकक्ष योग्यता पूरी करनी चाहिए।

4. क्या मैं आईटीआई इलेक्ट्रीशियन पाठ्यक्रम पूरा करने के बाद विद्युत कार्य के क्षेत्र में किसी विशेष क्षेत्र में विशेषज्ञता हासिल कर सकता हूं?

उत्तर: हां, आईटीआई इलेक्ट्रीशियन पाठ्यक्रम पूरा करने के बाद, व्यक्ति विशेष प्रमाणपत्र प्राप्त कर सकते हैं या औद्योगिक स्वचालन, नवीकरणीय ऊर्जा, या नियंत्रण प्रणाली जैसे विशिष्ट क्षेत्रों में और अनुभव प्राप्त कर सकते हैं।

5. क्या आईटीआई इलेक्ट्रीशियन पाठ्यक्रम में व्यावहारिक प्रशिक्षण शामिल है?

उत्तर: हां, आईटीआई इलेक्ट्रीशियन पाठ्यक्रम छात्रों को वास्तविक दुनिया का अनुभव प्रदान करने और उनके कौशल को बढ़ाने के लिए व्यावहारिक प्रशिक्षण पर जोर देता है।

FINAL ANALYSIS:

आज के लेख में हमने जाना की ITI Electrician Syllabus In Hindi , आईटीआई इलेक्ट्रीशियन पाठ्यक्रम इच्छुक इलेक्ट्रीशियन के लिए एक व्यापक आधार प्रदान करता है। पाठ्यक्रम में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, सुरक्षा प्रथाओं, इलेक्ट्रिकल सर्किट, मशीनें, माप, नवीकरणीय ऊर्जा और बहुत कुछ के विभिन्न पहलुओं को शामिल किया गया है। आईटीआई इलेक्ट्रीशियन पाठ्यक्रम पूरा करके, व्यक्ति विद्युत कार्य के क्षेत्र में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए आवश्यक कौशल और ज्ञान प्राप्त करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top