Top Hindi Jankari

TOP HINDI JANKARI हिंदी वेबसाइट पर आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में जानकारी दी जाती है । यह वेबसाइट बनाने का मुख्य कारण है हिंदी भाषा से आपको विभिन्न प्रकार के जानकारियां आप तक सही तरीके से पहुंचे ।

Law की पढ़ाई कैसे करे? – Law Course Details In Hindi

आज के लेख में बात करेंगे Law की पढ़ाई कैसे करे?, Law Course Details In Hindi , लॉ कोर्स की सूची क्या क्या है ?, कानून एक बेहतरीन करियर स्ट्रीम है, अगर आपको कानून के बारें में पढ़ना अच्छा लगता है और आप इस क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं तो आपको ऐसे कोर्स के बारें में जानकारी प्राप्त करना होगा तभी आप कानून के क्षेत्र में करियर बना सकते हैं | आइए जानते हैं : Law की पढ़ाई कैसे करे? और Law Course Details In Hindi

Law Course Details In Hindi

Law Course क्या है? (Law Course Details In Hindi)

“कानून” हमारे संविधान का मूल हिस्सा है। भारत में law education ही एकमात्र legal education है | जिस छात्र ने इस डिग्री को पास किया है, उसे ” वकील ” के रूप में नामित किया गया है और वो अदालत की गतिविधियों और अभ्यास में कार्यरत होते हैं | भारत में कानून की शिक्षा विभिन्न विश्वविद्यालयों और विभिन्न शैक्षणिक स्तरों में प्रदान की गई है। BCI ( बार काउंसिल ऑफ इंडिया ) कानून शिक्षा के मुख्य नियामक संस्था है।

1985 में, “Law Commission of India” ने भारत में कानूनी पेशे के शैक्षणिक स्तर को बढ़ाने के लिए विधि शिक्षा के लिए एक विश्वविद्यालय स्थापित करने का निर्णय लिया था। तत्पश्चात भारत में पहला कानून विश्वविद्यालय बैंगलोर में स्थापित किया गया था जिसका नाम “नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी” था, जिसे “NLS” के नाम से जाना जाता था । यह वह समय था जब भारत में पहली LLB डिग्री शुरू की गई थी |

UGC ने सितंबर 2012 को भारत में LLM एक वर्षीय पाठ्यक्रम की शुरुआत की |

Law Course की सूची :

  1. Bachelor of Laws (LL.B.) – 3 years
  2. Integrated undergraduate degrees – B.A. LL.B., B.Sc. LL.B., BBA LLB, B.Com LL.B – 5 years
  3. Master of Laws (LL.M.) – one/two years
  4. Master of Business Law
  5. Doctor of Philosophy (PhD)
  6. Integrated MBL-LLM/ MBA-LLM – 3 years

Diploma Law Courses in India

  1. Diploma in Criminal Law
  2. Diploma in Business Law
  3. Diploma in Corporate Laws & Management
  4. Diploma in Co-operative Law
  5. Diploma in Cyber Law
  6. Diploma in Criminology
  7. Diploma in Human Rights Law
  8. Diploma in Information Technology Laws
  9. Diploma in Labour Laws
  10. Diploma in Labour Laws & Labour Welfare
  11. Diploma in International Laws
  12. Diploma in Taxation Laws
  13. Diploma in Women Studies & Gender Justice

लॉ कोर्स में प्रवेश प्रक्रिया :

जो छात्र कानून में प्रवेश लेना चाहते हैं, उन्हें CLAT (कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट) परीक्षा में शामिल होना होता है । CLAT का आयोजन राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालयों (NLUs) और विभिन्न अन्य संस्थानों में प्रवेश के लिए किया जाता है। CLAT के माध्यम से छात्रों को इंटीग्रेटेड एलएलबी और एलएलएम कोर्स में प्रवेश दिया जाता है।

भारत में शीर्ष विश्वविद्यालयों की सूची

भारत में कानूनी शिक्षा प्रदान करने वाले शीर्ष विश्वविद्यालय निम्नलिखित हैं:

  • The West Bengal National University of Juridical Sciences, Kolkata
  • National Law University, Jodhpur, Jodhpur
  • Gujarat National Law University, Gandhinagar
  • Rajiv Gandhi National University of Law, Patiala
  • Dr. Ram Manohar Lohia National Law University, Lucknow
  • Hidayatullah National Law University, Raipur
  • National University of Advanced Legal Studies, Kochi
  • Chanakya National Law University, Patna
  • National Law University Odisha
  • National Law University, Delhi, New Delhi
  • Damodaram Sanjivayya National Law University, Visakhapatnam
  • National University of Study and Research in Law, Ranchi
  • National Law School and Judicial Academy, Assam, Guwahati
  • Tamil Nadu National Law School, Srirangam
  • Maharashtra National Law School, Nagpur

कानून में नौकरी/कैरियर विकल्प :

करियर के रूप में चुनने के लिए लॉ कोर्स बहुत प्रतिष्ठित है। यह एक मेहनती और ईमानदार क्षेत्र है। एक फ्रेशर को अपने करियर की शुरुआती शुरुआत के लिए प्रतिष्ठित कानूनी फर्म या वकील के तहत काम करना पड़ सकता है।

Bar Council of India द्वारा किए गए सर्वेक्षण के अनुसार भारत में कुशल वकील की बहुत मांग है। भारतीय कानून के केवल 20% छात्र ही अदालत में काम करने के योग्य हैं।
कानून का छात्र अनुभव हासिल करने के बाद सरकारी वकील, सॉलिसिटर जनरल या निजी कानूनी फर्मों का हिस्सा हो सकता है। कानून के छात्र लोक सेवा आयोगों द्वारा आयोजित परीक्षा में शामिल हो सकते हैं और न्यायाधीश का पद प्राप्त कर सकते हैं।

एक अच्छा वकील मंत्रालय, सरकारी विभागों और विभिन्न कानूनी सलाह संगठनों में काम कर सकता है।

UK और US में काम करने की भी अच्छी संभावनाएं हैं। भारत का कानून ब्रिटेन के कानून के समान ही है। फर्म और UK सरकार भारतीय छात्रों को legal concern के रूप में उनके साथ काम करने की पेशकश करती है।

लॉ कोर्स के बाद निम्नलिखित पदों में नौकरी कर सकते हैं ?

  • Criminal Lawyer
  • Civil Litigation Lawyer
  • Legal Analyst
  • Document Drafting Lawyer
  • Legal Journalist
  • Legal Advisor
  • Government Lawyer
  • Judge

कानून की पढ़ाई करने के बाद वेतन कितना मिलता है ?

कानून की पढ़ाई करने के बाद करियर के भरपूर अवसर उपलब्ध होते हैं , कोर्स पूरा होने के बाद, जब आप विशेषज्ञों के अधीन काम कर रहे होते हैं, तो आप प्रति माह 5000 से 20000 तक स्टाइपेंड के रूप में कमा सकते हैं |

कोर्ट में व्यक्तिगत रूप से काम करके आप 20000 से 50000 प्रति माह कमा सकते हैं।

लॉ कोर्स करने के बाद शीर्ष भर्तीकर्ता :

  • Amarchand Mangaldas
  • AZB & Partners
  • J Sagar Associates
  • Khaitan & Co
  • Luthra & Luthra
  • Trilegal
  • Desai & Diwanji
  • Singhania & Partners
  • Titus & Co
  • Wadia Ghandy & Co
  • Lakshmi Kumaran & Sridharan
  • Economic Laws Practice
  •  Vaish & Associates
ये भी पढ़ें : MD Course Details in Hindi

 

FINAL ANALYSIS :

आज के लेख में हमने जाना की Law की पढ़ाई कैसे करे?, Law Course Details In Hindi , मुझे उम्मीद है की आपको इस लेख से अच्छी जानकारी प्राप्त हुआ होगा, इस लेख को लिखने के लिए हमने बहुत रिसर्च किया है, और आप तक सही जानकारी पहुँचाया है , इस लेख को पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद |

FAQ: 

प्रश्न :क्या कानून एक अच्छा करियर है?

उत्तर : पेशे के तौर पर कानून की आजकल काफी मांग है। आर्थिक रूप से आकर्षक होने के अलावा, कानून एक साहसिक और रोमांचक करियर विकल्प है। हमारे समाज में वकीलों को बहुत सम्मान दिया जाता है, और यह विश्वास बना रहता है कि जब सब कुछ विफल हो जाता है, तब भी कोई कानूनी व्यवस्था का रास्ता अपना सकता है।

प्रश्न : क्या भारत में वकील बेरोजगार हैं?

उत्तर : भारत में प्रतिभा और मेहनती लोगों की कमी नहीं है । अगर आप अच्छे से लॉ की पढ़ाई करते हैं तो आपको काम जरुर मिलेगा |

प्रश्न: भारत में लॉ की फीस कितनी है ?

उत्तर : लॉ की फीस बहुत से कारकों पर निर्भर होता है , सरकारी और निजी संस्था में अलग अलग फीस होती है | भारत में लॉ की औसत फीस 50000 – 200000 रूपये तक होती है |

प्रश्न : लॉ कोर्स करने की योग्यता क्या है ?

उत्तर : भारत में विभिन्न प्रकार के लॉ कोर्स उपलब्ध है , डिग्री से लेकर डिप्लोमा तक का कोर्स उपलब्ध है | लॉ पढ़ने के लिए कम से कम आपको 12वीं पास होना जरुरी है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top