Top Hindi Jankari

TOP HINDI JANKARI हिंदी वेबसाइट पर आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में जानकारी दी जाती है । यह वेबसाइट बनाने का मुख्य कारण है हिंदी भाषा से आपको विभिन्न प्रकार के जानकारियां आप तक सही तरीके से पहुंचे ।

LLM Course Details in Hindi – LLM कोर्स क्या है?

नमस्कार दोस्तों , आज के लेख में बात करेंगे LLM Course Details in Hindi, LLM कोर्स क्या है? अगर आप भविष्य में कानून संबंधी कोर्स का अध्धयन करना चाहते हैं, तो LLM कोर्स के बारे में जरूर सुना होगा | यह कोर्स कानून की पढ़ाई में सबसे लोकप्रिय तथा सर्वश्रेष्ठ डिग्री में से एक मानी जाती है | तो इस आर्टिकल में जानेंगे LLM कैसे करें ? इसके लिए क्या योग्यता होनी चाहिए ? फीस कितनी होती है ? इसके आलावा इसके क्या फायदे हैं , ये जानकारी इस आर्टिकल में विस्तार से जानेंगे | आइए जानते हैं : LLM Course Details in Hindi

LLM Course Details in Hindi

विषयों की सूची

LLM कोर्स क्या है? (What Is LLM Course in Hindi)

LLM को मास्टर ऑफ़ लॉ (Master of Laws) तथा हिंदी में कानून में मास्टर हासिल करना होता है | LLM कोर्स को कानून की पढ़ाई में सबसे लोकप्रिय और एक सर्वश्रेष्ठ डिग्री मानी जाती है | यह कोर्स पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स है | इस कोर्स में रूल और रेगुलेशन से सम्बंधित शिक्षा दी जाती है | इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप तहसील से लेकर आप डिस्ट्रिक्ट लेवल के हाईकोर्ट और सुप्रीमकोर्ट में काम कर सकते हैं |

LLM कोर्स के बारें में (LLM Course Details in Hindi)

  • LLM पात्रता मानदंड किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से 3 साल की एलएलबी डिग्री या 50-60% अंकों के साथ 5 साल की बीए एलएलबी / बीएससी एलएलबी / बीसीए एलएलबी डिग्री है।
  • LLM की फीस सरकारी कॉलेजों में 1,00,000 रुपये और निजी कॉलेजों में 4,00,000 रुपये तक है। जामिया मिलिया इस्लामिया जैसे LLM कॉलेज केवल 18,000 रुपये में LLM पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं।
  • भारत में शीर्ष LLM कॉलेजों में नेशनल लॉ इंस्टीट्यूट यूनिवर्सिटी, नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी (NLSIU), NALSAR यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ आदि शामिल हैं।
  • अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान पाने के लिए छात्र हार्वर्ड यूनिवर्सिटी, लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स, कैम्ब्रिज आदि से विदेश में एलएलएम कर सकते हैं।
  • अन्नामलाई विश्वविद्यालय से INR 19,300 की सस्ती लागत पर एलएलएम दूरस्थ शिक्षा भी प्राप्त कर सकते हैं ।
  • छात्र अपनी रुचि और वरीयताओं के आधार पर एलएलएम विशेषज्ञता जैसे अंतर्राष्ट्रीय कानून, आपराधिक कानून, कॉर्पोरेट कानून आदि चुन सकते हैं।
  • उम्मीदवार जो कानूनी अनुसंधान और शिक्षण में अपना करियर स्थापित करना चाहते हैं, वे एलएलएम के बाद LLD (डॉक्टर ऑफ लॉ) का विकल्प चुन सकते हैं।
  • छात्रों को वकील, वकील, कानूनी सलाहकार और अन्य एलएलएम वेतन लगभग 5-10 लाख रूपये प्रति वर्ष के अलावा निजी और सरकारी दोनों क्षेत्रों में कानूनी सेवाओं में नियोजित किया जा सकता है।

LLM कोर्स की योग्यता क्या है?

उम्मीदवार LLM पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आवेदन करने के लिए पात्र हैं यदि उन्होंने कानून में स्नातक की पढ़ाई पूरी कर ली है, अर्थात, यदि उम्मीदवार ने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय / कॉलेज से अपना एलएलबी / बैचलर ऑफ लॉ / पांच वर्षीय एकीकृत LLM पाठ्यक्रम हासिल किया हो।

  • न्यूनतम योग्यता आवश्यक: बैचलर ऑफ लॉ (LLB)
  • आवश्यक न्यूनतम अंक (कुल): 55%
  • न्यूनतम आयु आवश्यकता: 17 वर्ष या उससे अधिक

LLM कोर्स की अवधि कितनी है?

  • LLM कोर्स की अवधि 1 साल या 2 साल की भी हो सकती है| यह अपने- अपने कॉलेजों पर निर्भर करती है |
  • कई यूनिवर्सिटी में 1 साल में ही कोर्स पूरा होता है |

LLM कोर्स में एडमिशन प्रक्रिया क्या है?

LLM कोर्स में प्रवेश पाने वाले उम्मीदवारों को चयन प्रक्रिया से गुजरना होगा, जिसके बाद ही वे कॉलेज में प्रवेश ले सकते हैं। भारत के अधिकांश लॉ कॉलेजों में एलएलएम की सामान्य रूप से स्वीकृत प्रवेश प्रक्रिया को नीचे समझाया गया है।

  • कई कॉलेज आवेदकों को शॉर्टलिस्ट करने के लिए राष्ट्रीय / राज्य स्तरीय law entrance एग्जाम स्वीकार करते हैं।
  • कुछ कॉलेज प्रवेश प्रक्रिया के लिए अपनी व्यक्तिगत संस्थान-स्तरीय प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं।
  • कुछ कॉलेजों में योग्यता-आधारित प्रवेश भी दिए जाते हैं जिनमें उम्मीदवारों का चयन योग्यता स्नातक डिग्री में उनके कुल स्कोर के आधार पर किया जाता है।
  • कुछ संस्थानों में व्यक्तिगत बातचीत या समूह चर्चा के अतिरिक्त दौर भी आयोजित किए जा सकते हैं।

एंट्रेंस एग्जाम निम्न प्रकार के हैं :

  • CLAT
  • LSAT
  • AIBE
  • AILET
  • SET
  • BVT CET

LLM कोर्स में फीस कितना लगता है?

LLM कोर्स फ़ीस अलग – अलग कॉलेजों में अलग- अलग तरह के होते हैं | किसी कॉलेजों 25 हजार और किसी कॉलेज में 2 लाख रूपये तक खर्च हो सकता है |

कुछ शीर्ष कॉलेज और उनका फीस :

College Course Fee
National Academy of Legal Studies and Research (NALSAR) Rs. 3.5 lacs
Sandip University (SU) Rs. 1.2 lacs
West Bengal National University of Juridical Sciences (WBNUJS) Rs. 2.2 lacs
Lovely Professional University (LPU) Rs. 3.12 lacs
IFHE – Faculty of Law (ICFAI Law School) Rs. 2.4 lacs

 

LLM कोर्स किस – किस शाखा से कर सकते हैं?

LLM के ब्रान्च नाम निम्न प्रकार है :

  • Constitutional Law
  • Family Law
  • Taxation Law
  • Corporate Law
  • Environmental Law
  • Human Right
  • Insurance Law

LLM के लिए अच्छे इंस्टिट्यूट कौन -कौन से हैं?

  • National Law School of India University
  • Indian Law Institute
  • National Law University
  • Symbiosis Law School
  • Nalsar University of Law
  • Gujrat National Law University
  • Amity Law School
  • Delhi University 

LLM का सिलेबस कैसे होता है? (LLM Syllabus In Hindi)

LLM पाठ्यक्रम में कॉर्पोरेट कानून से लेकर अंतर्राष्ट्रीय व्यापार कानून और अन्य विषयों की एक विस्तृत श्रृंखला शामिल है। नीचे दी गई तालिका में उन विषयों पर चर्चा की गई है जो एलएलएम के पाठ्यक्रम संरचना के अंतर्गत आते हैं,

भारत में कानून और सामाजिक परिवर्तन न्यायिक प्रक्रिया कानूनी अनुसंधान और कार्यप्रणाली
विवाद का वैकल्पिक समाधान संविधानवाद मानवाधिकार और मानवीय कानून
अंतर्राष्ट्रीय व्यापार कानून बौद्धिक संपदा अधिकार कॉर्पोरेट नियम

मास्टर ऑफ लॉ (LLM) करियर विकल्प और नौकरी की संभावनाएं :

कानून उन व्यवसायों में से एक है जो मंदी से मुक्त है और निजी के साथ-साथ सार्वजनिक क्षेत्र में भी नौकरियां उपलब्ध कराता हैं। भारत सरकार के साथ-साथ विभिन्न राज्य सरकारें वकीलों और एलएलएम स्नातकों के लिए कई पद जारी करती हैं। इन आकर्षक जॉब प्रोफाइल के लिए उम्मीदवारों को विभिन्न सरकारी विभागों की सेवा के लिए प्रवेश परीक्षा के माध्यम से काम पर रखा जाता है। चूंकि कानूनी मामले लगभग हर संगठन का हिस्सा हैं, इसलिए कॉर्पोरेट फर्म संगठन के कानूनी कार्यों और आवश्यकताओं की देखभाल के लिए वकीलों और एलएलएम स्नातकों को भी नियुक्त करती हैं। कुशल स्नातक भी निजी प्रैक्टिस कर सकते हैं और विभिन्न न्यायालयों में कानून का अभ्यास करके भारी वेतन अर्जित कर सकते हैं। एलएलएम स्नातक कुछ कानून प्रोफाइल निम्नलिखित कर सकते हैं:

  • Advocate
  • Magistrate
  • Judge
  • Trustee
  • Oath Commissioner
  • Notary
  • Legal Document Reviewer
  • Legal Consultant
  • Legal Associate
  • Professor of Law
  • Fraud Investigator

LLM कोर्स करने बाद वेतन कितना है?

LLM स्नातकों का वेतन उनके द्वारा लिए गए जॉब प्रोफाइल के आधार पर भिन्न होता है। आमतौर पर, शुरुआत में एक LLM स्नातक 3-4 लाख रूपये प्रति वर्ष कमाता है, अनुभवी वकील 7 लाख रुपये तक कमा सकते हैं।

LLM में एडमिशन के लिए क्या डॉक्यूमेंट लगता है?

  • Passport Size Colour photograph
  • Entrance Test Admit Card
  • Marksheet and Degree of LLB
  • 10th and 12th Certificate
  • Character Certificate
  • Cast Certificate (optional 

ये भी पढ़ें :

FAQ :

प्रश्न : LLM कितने साल का कोर्स होता है ?

उत्तर : LLM कोर्स दो साल का होता है | यह लॉ डिग्री के मास्टर संसथान के आधार पर ज्यादातर चार या अधिक सेमेस्टर में विभाजित है |

प्रश्न : लॉ कितने साल का होता है ?

उत्तर : यदि कोई छात्र बीकॉम / बीए / बीएससी / बीटेक के बाद लॉ करने के बाद लॉ करने की इच्छुक है तो वह यह कोर्स कर सकते हैं | परन्तु उसे करने के छात्र कम इच्छुक होते हैं फिर भी प्रत्येक क्षेत्र में बेह्टर परिपेक्ष्य के लिए 3 साल का ही वह कोर्ट चयन करते हैं |

प्रश्न : LLM कोर्स करने की फायदे क्या है ?

उत्तर : यह कोर्स 2 साल का होता है , इसमें कानून विभाग से जुड़ी जानकारियां दी जाती है | इसीलिए यह कोर्स LLB कोर्स से सर्वश्रेष्ठ कोर्स माना जाता है | LLM कानून की डिग्री एक छात्र को वकील में मास्टर बनने या कानूनी विभाग में काम करने के लिए योग्य बनती है |

प्रश्न : क्या LLB के बाद LLM कोर्स किया जा सकता है ?

उत्तर : हाँ , LLB के बाद LLM किया जा सकता है | LLM कोर्स , लॉ या वकालत के क्षेत्र में किया जाने वाला 2 वर्षीय स्नातकोतर ( पोस्ट – ग्रेजुएशन ) कोर्स है | यह कोर्स 3 वर्षीय LLB या 5 वर्षीय इंटीग्रेटेड BA – LLB/ B.COM – LLM के बाद किया जा सकता है | LLM कोर्स को मास्टर ऑफ़ लॉ कोर्स भी कहा जा सकता है |

FINAL ANALYSIS :

आज के लेख में हमने जाना की LLM Course Details in Hindi, LLM कोर्स क्या है? और LLM से जुड़े हर जानकारी को विस्तार से दिया गया है | आशा करता हूँ आप इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद अच्छे से समझ गए होंगे | अगर आप भविष्य में अपना करियर वकील या जज में करना चाहते हैं तो आप LLM कोर्स कर सकते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top