Top Hindi Jankari

TOP HINDI JANKARI हिंदी वेबसाइट पर आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में जानकारी दी जाती है । यह वेबसाइट बनाने का मुख्य कारण है हिंदी भाषा से आपको विभिन्न प्रकार के जानकारियां आप तक सही तरीके से पहुंचे ।

M.Lib Course Details In Hindi – M.Lib कोर्स क्या है?

नमस्कार दोस्तों, आज के लेख में बात करेंगे M.Lib Course Details In Hindi, M.Lib कोर्स क्या है? इस कोर्स को करने के लिए शैक्षिक योग्यता क्या होना चाहिए? इसे कौन कर सकता है? कोर्स की अवधि कितनी होती है? एडमिशन प्रक्रिया क्या है? विषय कौन कौन से होते हैं? सैलरी कितनी होती है और जॉब कहाँ मिल सकती है? आदि जानकारी को इस आर्टिकल में विस्तार से जानेंगे, तो आइए जानते हैं: M.Lib Course Details In Hindi

M.Lib Course Details In Hindi

M.Lib कोर्स का विवरण (M.Lib Course Details In Hindi)

 

कोर्स का नाम

एम.लिब.आई.एससी.

कोर्स का प्रकार

Postgraduate Degree

पात्रता

स्नातक में कम से कम 50% अंक होना चाहिए 

प्रवेश प्रक्रिया

प्रवेश परीक्षा/मेरिट सूची/सीधे प्रवेश

अवधि

1-2 वर्ष

परीक्षा प्रकार

सेमेस्टर सिस्टम

पाठ्यक्रम शुल्क

1.5 लाख – 5 लाख रूपये

 

M.Lib कोर्स क्या है? (What Is M.Lib Course In Hindi)

एम.लिब.आई.एससी. (मास्टर ऑफ लाइब्रेरी एंड इंफॉर्मेशन साइंस) एक स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम है, जिसमें सिद्धांतों और प्रथाओं के उन्नत अध्ययन को शामिल किया गया है| इस कोर्स में, छात्रों को आईटी विज्ञान और पुस्तकालय प्रबंधन कौशल की अंतर्दृष्टि सिखाई जाती है। इसमें मुख्य रूप से सूचना प्रणाली और प्रौद्योगिकी, संग्रह प्रबंधन, अनुसंधान पद्धति, वर्गीकरण और सूचीकरण, संरक्षण, सांख्यिकी, डेटाबेस प्रबंधन, संदर्भ, सूचना वास्तुकला और ज्ञान प्रबंधन आदि जैसे विषय शामिल हैं। यह 1 साल का पोस्टग्रेजुएट कोर्स है, हालांकि कुछ संस्थान इसे 2 साल के एजुकेशन प्रोग्राम के तौर पर भी ऑफर करते हैं।

M.Lib कोर्स के लिए योग्यता क्या होना चाहिए?

  • M.Lib कोर्स के लिए बैचलर डिग्री में 50%-60% अंकों से पास होना आवश्यक है|
  • बैचलर इन लाइब्रेरी साइंस के बाद M.Lib किया जा सकता है या बैचलर ऑफ लाइब्रेरी एंड इनफार्मेशन साइंस के बाद M.Lib का कोर्स कर सकते हैं |
  • M.Lib कोर्स के लिए 20-22 साल के बीच उम्र होना चाहिए|

M.Lib.I.Sc के क्या फायदे हैं?

  • आपको लाइब्रेरियन और सूचना व्यवसायों के रूप में सुचारू रूप से कार्य करने के लिए इसके पाठ्यक्रम में शामिल सैद्धांतिक और व्यावहारिक शिक्षा के माध्यम से सभी आवश्यक कौशल प्रदान किये जाते हैं।
  • मास्टर ऑफ लाइब्रेरी एंड इंफॉर्मेशन साइंस के पूरा होने के बाद, आप ज्ञान को व्यवस्थित करने वाली प्रणालियों को डिजाइन और विकसित करने में सक्षम होंगे।
  • आप आसानी से पाठक के सलाहकार संसाधन उनकी रुचि के अनुसार बना सकते हैं।
  • एक एम.लिब.आई.एससी. सुरक्षित प्रणालियों में ज्ञान और जानकारी को संरक्षित करने के लिए कई अन्य अवसर प्रदान करता है और जब भी उन्हें इसकी आवश्यकता होती है या मांगते हैं तो इसे विद्वानों और पेशेवरों को प्रदान करते हैं|

M.Lib में प्रवेश कैसे लें?

उम्मीदवारों को M.Lib.I.Sc का अध्ययन शुरू करने से पहले कुछ प्रक्रियाओं को पूरा करना आवश्यक है। भारत के किसी भी कॉलेज में M.Lib.I.Sc में प्रवेश पाने के तीन तरीके हैं: मेरिट प्रवेश, प्रवेश परीक्षा और सीधे प्रवेश।

प्रवेश परीक्षा द्वारा प्रवेश:

इस प्रक्रिया में आपको कॉलेज द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा में बैठने होता है, अगर आप परीक्षा को पास करते हैं तो आपको कॉलेज में प्रवेश मिल जाता है, इस तरह आप इस प्रक्रिया से अपने मन पसंद कॉलेज में एडमिशन पा सकते हैं|

मेरिट-आधारित प्रवेश : 

अधिकांश कॉलेज जो मास्टर ऑफ लाइब्रेरी एंड इंफॉर्मेशन साइंस की पेशकश करते हैं, वे प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित नहीं करते हैं। ये स्नातक में प्राप्त अंकों के आधार पर प्रवेश देते हैं, अगर आपने स्नातक की पढ़ाई अच्छे अंकों से पास किया है तो आपका प्रवेश की संभवना बढ़ जाती है|

सीधे प्रवेश:

ऐसे कई कॉलेज हैं जो पाठ्यक्रमों में सीधे प्रवेश प्रदान करते हैं, हालांकि, प्रत्येक कॉलेज के लिए सीधे प्रवेश के लिए पात्रता मानदंड में परिवर्तन होता है। इसलिए, कठिन प्रवेश प्रक्रिया में जाने से पहले एक उम्मीदवार को हमेशा मानदंडों का विश्लेषण करना चाहिए।

 M. Lib के लिए शीर्ष प्रवेश परीक्षा :

  • मैंगलोर विश्वविद्यालय M.Lib.Sc प्रवेश परीक्षा
  • उस्मानिया विश्वविद्यालय M.Lib.Sc प्रवेश परीक्षा
  • पंजाब विश्वविद्यालय M.Lib.Sc प्रवेश परीक्षा
  • पांडिचेरी विश्वविद्यालय M.Lib.Sc प्रवेश परीक्षा
  • शिवाजी विश्वविद्यालय M.Lib.Sc प्रवेश परीक्षा

एम.लिब.आई.एससी. की विशेषज्ञता क्या-क्या है?

उम्मीदवार M.Lib.I.Sc में विभिन्न विशेषज्ञता प्राप्त कर सकते हैं। नीचे बताई गई विशेषज्ञताएं हैं जिनमें से स्नातक अपनी प्राथमिकताओं के अनुसार किसी भी विशेषज्ञता का चयन कर सकते हैं:

  • Deputy Librarian
  • Electronic Resources Librarian
  • Academic Librarian
  • Junior / Assistant Librarian
  • Teacher Librarian
  • Librarian

एम.लिब.आई.एससी. के बाद करियर विल्कप और सैलरी :

इस कोर्स के बाद आप सरकारी और निजी संस्था में कार्य कर सकते हो, किसी व्यक्ति का पारिश्रमिक उनकी क्षमताओं और कौशल पर निर्भर करता है। वेतन किसी संगठन या कंपनी में किसी कर्मचारी के कार्यकाल और उपलब्धि जैसे कुछ और कारकों पर भी निर्भर करता है। यह हर जॉब प्रोफाइल के लिए भी बदलता है। 

जॉब प्रोफ़ाइल

वेतन (वार्षिक)

उप पुस्तकालयाध्यक्ष

रु. 8.2 लाख प्रति वर्ष (लगभग)

अकादमिक लाइब्रेरियन

रु. 3.8 लाख प्रति वर्ष (लगभग)

इलेक्ट्रॉनिक संसाधन पुस्तकालयाध्यक्ष

रु. 12 लाख प्रति वर्ष (लगभग)

कनिष्ठ/सहायक पुस्तकालयाध्यक्ष

रु. 3 लाख प्रति वर्ष (लगभग)

पुस्तकालय अध्यक्ष

रु. 4 लाख प्रति वर्ष (लगभग)

शिक्षक पुस्तकालयाध्यक्ष

रु. 5.4 लाख प्रति वर्ष (लगभग)

 

M.Lib कोर्स के बाद जॉब अवसर क्या हो सकती है?

मैंने आपको पहले बताया है की M.Lib एक पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री है| इस कोर्स को करने बाद जॉब के कई सारी विकल्प होते हैं जैसे :

  • Universities and College
  • Court Houses
  • Public Schools
  • Law Offices
  • Museums
  • Local Library Buildings
  • Public and Private Libraries
  • Corporate Training Centeres
  • Research Institutions
  • Media Organizations
  • Consulting Firms

ये भी पढ़ें :

FAQ :

प्रश्न: क्या M.Lib.I.Sc में करियर चुन रहे हैं?

उत्तर:किसी भी देश में, पुस्तकालय और कलाकृतियों को राष्ट्रीय खजाने के रूप में महत्व दिया जाता है। सरकार उन्हें संरक्षित करने के लिए बहुत पैसा खर्च करती है जिसके लिए पेशेवरों की मदद की आवश्यकता होती है। इसलिए M.Lib.I.Sc. में करियर चुनना वास्तव में इसके लायक है।

प्रश्न: क्या साइंस स्ट्रीम का छात्र M.Lib.I.Sc. कर सकता है?

उत्तर:हां, किसी भी स्ट्रीम के उम्मीदवार M.Lib.I.Sc कर सकते हैं। कोर्स को करें और इस क्षेत्र में अपना करियर बनाएं।

प्रश्न: M.Lib.I.Sc. में कोई विशेष विशेषज्ञता क्या कर सकता है?

उत्तर:उम्मीदवार डिप्टी लाइब्रेरियन, इलेक्ट्रॉनिक रिसोर्सेज लाइब्रेरियन, जूनियर / असिस्टेंट लाइब्रेरियन, लाइब्रेरियन और टीचर लाइब्रेरियन जैसे क्षेत्रों में विभिन्न विशेषज्ञता हासिल कर सकते हैं।

FINAL ANALYSIS :

इस लेख में हमने जाना की M.Lib Course Details In Hindi, M.Lib कोर्स क्या है? और M.Lib कोर्स के बारे में सारे जानकारी विस्तार से बताया गया है| उम्मीद करता हूँ आप इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद अच्छे से समझ गए होंगे| अगर आप भी लाइब्रेरी प्रबंधन में करियर बनाना चाहते हैं, तो यह आर्टिकल आपके लिए मददगार साबित हो सकता है| इस M.Lib Course Details In Hindi कोर्स को अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद| 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top