Top Hindi Jankari

TOP HINDI JANKARI हिंदी वेबसाइट पर आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में जानकारी दी जाती है । यह वेबसाइट बनाने का मुख्य कारण है हिंदी भाषा से आपको विभिन्न प्रकार के जानकारियां आप तक सही तरीके से पहुंचे ।

M.Sc Geography Syllabus In Hindi जाने विस्तार से

नमस्कार दोस्तों, आज के लेख में जानेंगे M.Sc Geography Syllabus In Hindi, M.Sc Geography में कितने सब्जेक्ट होते हैं? जो छात्र बीएससी के बाद एमएससी में भूगोल से पढ़ना चाहते हैं, उनके लिए बीएससी भूगोल की पाठ्यक्रम जानना बहुत आवश्यक है| इस लेख के जरिये हम आपको बीएससी भूगोल के पाठ्यक्रम के बारें में विस्तार से बतायेंगे| आइए जानते हैं : M.Sc Geography Syllabus In Hindi

M.Sc Geography Syllabus In Hindi

M.Sc Geography कोर्स का विवरण:

पाठ्यक्रम की अवधि 2 वर्ष
स्तर स्नातकोत्तर
प्रकार डिग्री
योग्यता  बीएससी स्नातक

 

M.Sc Geography कोर्स क्या है?

एमएससी भूगोल या भूगोल में मास्टर ऑफ साइंस स्नातकोत्तर भूगोल पाठ्यक्रम है। भूगोल में पृथ्वी-भूमि, स्थलाकृति, विशेषताओं, लोगों और घटनाओं का अध्ययन शामिल है। एमएससी की अवधि भूगोल में ज्यादातर दो शैक्षणिक वर्ष होते हैं लेकिन यह विभिन्न संस्थान में भिन्न होता है। पाठ्यक्रम पूरा करने के लिए न्यूनतम समय दो वर्ष है। ऐसे कई कॉलेज और विश्वविद्यालय हैं जो अपने परिसरों में यह पाठ्यक्रम प्रदान कर रहे हैं|

एमएससी भूगोल में प्रवेश के लिए योग्यता क्या है?

  • उम्मीदवार के पास भूगोल विशेष के साथ बीए या बी.एससी होना चाहिए।

एमएससी भूगोल पाठ्यक्रम (M.Sc Geography Syllabus In Hindi)

विभिन्न विश्वविद्यालयों और कॉलेजों द्वारा निर्धारित भूगोल का पाठ्यक्रम नीचें प्रस्तुत कर रहे हैं :

एमएससी भूगोल में निम्नलिखित विषयों को पढ़ाया जाता है :

  • Environment and Ecology (पर्यावरण और पारिस्थितिकी)
  • Fundamentals of Remote Sensing and GIS (रिमोट सेंसिंग और जीआईएस की बुनियादी बातें)
  • Statistical Techniques (सांख्यिकीय तकनीक)
  • Spatial Analysis (त्रिविमीय विश्लेषण)
  • Advanced Physical Geography (उन्नत भौतिक भूगोल)
  • Contemporary Human Geography (समकालीन मानव भूगोल)
  • Computer Aided Mapping (कंप्यूटर एडेड मैपिंग)
  • Thematic Atlas (विषयगत एटलस)
  • Spatial Economic Systems (स्थानिक आर्थिक प्रणाली)
  • Natural Resource Management (प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन)
  • Political Geography (राजनीतिक भूगोल)
  • Agricultural Geography (कृषि भूगोल)
  • Social Geography of India (भारत का सामाजिक भूगोल)
  • Urban Settlement System (शहरी बंदोबस्त प्रणाली)
  • Regional Development (क्षेत्रीय विकास)
  • Cultural Geography (सांस्कृतिक भूगोल)
  • Hydrology and Water Resource Management (जल विज्ञान और जल संसाधन प्रबंधन)
  • Environmental Impact Assessment (पर्यावरण प्रभाव आकलन)
  • Geography of Landscape (लैंडस्केप का भूगोल)
  • Demography and Population Policy (जनसांख्यिकी और जनसंख्या नीति)
  • Health, Environment and Society (स्वास्थ्य, पर्यावरण और समाज)

एमएससी भूगोल के लिए शीर्ष कॉलेज :

एमएससी भूगोल करने के फायदे क्या है?

  • छात्रों को आर्थिक या कृषि संस्थानों में वन प्रबंधक के रूप में नौकरी मिल सकती है।
  • पुरातत्व में रुचि रखने वाले लोग उस दिशा में अपना करियर बना सकते हैं।
  • उम्मीदवारों के लिए राज्य के साथ-साथ केंद्र सरकार की फर्मों के साथ जनसांख्यिकी के रूप में काम करना भी संभव है। वे मैपिंग के अलावा अनुसंधान, खुफिया कार्य और रिमोट सेंसिंग व्याख्या के लिए छात्रों को लेते हैं।
    भूगोलवेत्ता के लिए उपलब्ध अन्य विकल्प परिवहन योजना, पर्यटन, यात्रा योजना और सामाजिक सेवाएं हैं।
    वे सिविल सर्विस स्ट्रीम में भी शामिल हो सकते हैं।
  • अपशिष्ट निपटान प्रणाली बनाने वाली फर्में भूगोल के छात्रों को भी नियुक्त करती हैं।
  • छात्रों के लिए शिक्षण में करियर चुनना भी संभव है। उन्हें कॉलेजों में व्याख्याता (Lecturers) के रूप में नौकरी मिल सकती है। इसके लिए उन्हें यूजीसी-नेट की परीक्षा देनी होगी।
  • उनके पास शोध क्षेत्र में जाने का विकल्प भी है। वे चाहें तो सीएसआईआर परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

एमएससी भूगोल करने के बाद मिलने वाले पदों की सूची :

  • वरिष्ठ भौगोलिक तकनीशियन
  • भूगोल शिक्षक
  • विषय विशेषज्ञ – भूगोल
  • सामग्री डेवलपर – भूगोल
  • लेखा सहायक
  • भूगोल विस्तार नेता
  • भूगोल के प्रोफेसर
  • भू विश्लेषक प्रशिक्षु
  • भौगोलिक सूचना प्रणाली – तकनीशियन
  • व्यवसाय विकास कार्यकारी
  • प्रबंधन प्रशिक्षार्थी
  • सेल्स/मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव

ये भी पढ़ें :

FAQ:

प्रश्न: M.Sc Geography कोर्स क्या है?

उत्तर: एमएससी भूगोल या भूगोल में मास्टर ऑफ साइंस स्नातकोत्तर भूगोल पाठ्यक्रम है।

प्रश्न: एमएससी भूगोल कितने साल का होता है?

उत्तर : एमएससी भूगोल की अवधि 2 वर्ष का होता है?

FINAL ANALYSIS:

आज के लेख में हमने जाना की M.Sc Geography Syllabus In Hindi, M.Sc Geography में कितने सब्जेक्ट होते हैं? मुझे आशा है की आपको इस लेख के जरिये एमएससी भूगोल के बारें में जानने को मिला होगा, इस M.Sc Geography Syllabus In Hindi लेख को पढ़ने के लिए धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top