Top Hindi Jankari

TOP HINDI JANKARI हिंदी वेबसाइट पर आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में जानकारी दी जाती है । यह वेबसाइट बनाने का मुख्य कारण है हिंदी भाषा से आपको विभिन्न प्रकार के जानकारियां आप तक सही तरीके से पहुंचे ।

MA Ke Baad Teacher Kaise Bane जाने विस्तार से

नमस्कार दोस्तों, आज के लेख में बात करेंगे MA Ke Baad Teacher Kaise Bane, MA Ke Baad B.ed Kaise Kare? अगर आपने एमए कर लिया है या आप एमए करना चाहते हैं, तो आपके मन में सवाल उठता रहता है की MA Ke Baad Teacher Kaise Bane, तो आप सही जगह पर आये हैं, इस लेख में हम आपको विस्तार से बताएँगे : MA Ke Baad Teacher Kaise Bane

MA Ke Baad Teacher Kaise Bane

MA कोर्स क्या है?

MA Ke Baad Teacher Kaise Bane ?  जानने से पहले थोड़ा MA के बारें में जान लेते हैं, एमए या मास्टर ऑफ आर्ट्स कला, मानविकी और उदार कला विषयों जैसे भाषा, इतिहास, भूगोल, दर्शन, लिंग अध्ययन, आदि के क्षेत्र में छात्रों को दी जाने वाली 2 साल की शैक्षणिक डिग्री है।

क्या MA के बाद सीधे शिक्षक बन सकते हैं?

दोस्तों, अगर आपने मास्टर ऑफ़ आर्ट्स (MA) कर लिया है, और आप शिक्षण के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं, तो यह लेख आपके लिए ही है|

आपको बता दें : मास्टर ऑफ़ आर्ट्स (MA) करने के बाद आप सीधे शिक्षक भर्ती एग्जाम में नहीं बैठ सकते हो, अगर आपको सरकारी शिक्षक बनना है तो MA के बाद B.ed करना होगा, तभी आप सरकारी शिक्षक बनने के योग्य बन जाते हैं|

MA के बाद B.ed कैसे करें? (MA Ke Baad B.ed Kaise Kare?)

एमए के बाद B.ed करना बहुत ही आसान है, MA करने के बाद आपको B.ed में शीधे प्रवेश मिल जाते हैं, भारत में ऐसे बहुत सारे कॉलेज हैं जहाँ पर आपको सीधे प्रवेश देते हैं, अगर आप अच्छे कॉलेजों से B.ed करना चाहते हैं तो आपको प्रवेश परीक्षा में बैठना होता है|

MA के बाद B.ed कितने साल का होता है?

दोस्तों, आमतौर पर स्नातक के बाद B.ED दो वर्ष का होता है| परन्तु अगर आपने MA किया है तो आपको B.ED एक वर्ष करना होता है|

 शिक्षक कितने प्रकार के होते हैं:

  • प्री-प्राइमरी स्कूल टीचर : प्री-प्राइमरी स्कूल टीचर छात्रों के जीवन में एक आवश्यक भूमिका निभाता है क्योंकि वे अपने माता-पिता के बाद पहले व्यक्ति होते हैं। वे 3 से 5 साल के छात्रों के साथ व्यवहार करते हैं। वे छात्रों को अक्षर की पहली प्राथमिक अवधारणाओं से परिचित कराते हैं।
  • प्राथमिक विद्यालय शिक्षक : प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक 6 से 12 वर्ष के छात्रों को पढ़ाते हैं। प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षकों को छात्रों को शिक्षा की नई अवधारणाओं को पढ़ाना होता है और कंप्यूटर, जीवन कौशल आदि का परिचय देना होता है। वे छात्रों के जीवन के लिए शिक्षा की नींव विकसित करेंगे जो हमेशा के लिए रहेगी।
  • माध्यमिक विद्यालय शिक्षक : माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक कक्षा 6 से 10 तक के छात्रों को पढ़ाते हैं। माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक छात्रों के जीवन के गहन ज्ञान के निर्माण और उन्हें उनके सपनों और जुनून को साकार करने के लिए जिम्मेदार हैं।
  • सीनियर सेकेंडरी स्कूल टीचर : सीनियर सेकेंडरी स्कूल टीचर पोस्ट-ग्रेजुएट होते हैं जिन्हें थोर स्पेशलाइज्ड विषयों का ज्ञान होता है। ये शिक्षक विषयों पर गहन जानकारी दे सकते हैं और छात्रों को उनके करियर चयन में सलाह दे सकते हैं।
  • विशेष शिक्षक : विशेष शिक्षक वो होते हैं, जो मानसिक स्वास्थ्य, शारीरिक, भावनात्मक, सीखने की अक्षमता आदि वाले विकलांग छात्रों को पढ़ाते हैं। उन्हें अलग-अलग स्कूलों में उन अलग-अलग छात्रों को पढ़ाने के लिए विशेष प्रशिक्षण मिलता है।

MA Ke Baad Teacher Kaise Bane

अगर आपने MA के बाद B.ED कर लिया है तो नीचें हम आपको शिक्षक बनने की प्रक्रिया बता रहे हैं :

राज्य स्तरीय शिक्षक : 

अगर आपने B.ED कर लिया है और आप अपने राज्य में शिक्षक बनना चाहते हैं तो आपको आपके राज्य का TET एग्जाम पास करना पड़ता है| बीएड करने के बाद ही आप TET परीक्षा दे सकते हैं, TET पास करने के बाद आप शिक्षक बन जाते हैं| 

केन्द्रीय स्तरीय शिक्षक :

केन्द्रीय स्तरीय शिक्षक बनने के लिए आपको CTET एग्जाम पास करना पड़ता है, CTET एग्जाम दो पेपर में होते हैं, CTET एग्जाम में आवेदन करने के लिए आपके पास B.ED की डीग्री होना आवश्यक है, इस तरह आप इस एग्जाम को पास करके एक अच्छे शिक्षक बन सकते हैं|

अब आपको पता चल गया होगा की MA Ke Baad Teacher Kaise Bane? जैसे की ऊपर में हमने आपको पहले ही बता दिया था की आप MA के बाद सीधे शिक्षक नहीं बन सकते हैं, शिक्षक बनने के लिए आपको बीएड करना अनिवार्य है| 

ये भी पढ़ें :

FAQ :

प्रश्न: एक अनुभवी शिक्षक को कितना वेतन मिलता है?

उत्तर: एक शिक्षक के पास वर्षों के अनुभव के आधार पर एक अनुभवी शिक्षक को 8 लाख रूपये प्रति वर्ष या उससे अधिक तक मिलता है।

प्रश्न: क्या टीचिंग करियर के लिए बी.एड जरूरी है?

उत्तर: हां। टीचिंग करियर के लिए बीएड जरूरी है। कक्षा VI या उससे ऊपर के छात्रों को पढ़ाने के लिए उम्मीदवारों के पास B.Ed होना चाहिए।

प्रश्न: क्या मैं बिना बीएड के स्कूल में पढ़ा सकता हूँ?

उत्तर: केवल निजी स्कूलों में एक शिक्षक बिना बीएड के पढ़ा सकता है। लेकिन सरकार स्कूल में पढ़ाने के लिए, बी.एड अनिवार्य है।

FINAL ANALYSIS :

आज के लेख में हमने जाना की MA Ke Baad Teacher Kaise Bane, MA Ke Baad B.ed Kaise Kare? मुझे आशा है की आपको इस लेख के जरिये शिक्षक बनने की प्रक्रिया के बारें में जानकारी प्राप्त किये होंगे, अगर आप एमए के बाद शिक्षक बनने चाहते हैं तो जरुर शिक्षक बनने के लिए मेहनत करिये, हम दुआ करते हैं की आप शिक्षक बन जायेंगे | इस  MA Ke Baad Teacher Kaise Bane लेख को पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top