Top Hindi Jankari

TOP HINDI JANKARI हिंदी वेबसाइट पर आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में जानकारी दी जाती है । यह वेबसाइट बनाने का मुख्य कारण है हिंदी भाषा से आपको विभिन्न प्रकार के जानकारियां आप तक सही तरीके से पहुंचे ।

Railway Group D Medical Test Details In Hindi

नमस्कार दोस्तों, आज के लेख में बात करेंगे Railway Group D Medical Test Details In Hindi, रेलवे ग्रुप D मेडिकल टेस्ट में क्या होता है? यदि आप रेलवे ग्रुप D परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं तो आपको CBT, PET और दस्तावेज सत्यापन के साथ-साथ मेडिकल टेस्ट के बारे में भी पता होना चाहिए, क्योंकि मेडिकल टेस्ट ग्रुप D पदों के लिए चयन प्रक्रिया का अंतिम चरण होता है और इस चरण को पास नहीं करने से उम्मीदवार का पूरा मेहनत व्यर्थ में चला जाता हैं|

इसलिए छात्रों को अपनी उम्मीदवारी बचाने के लिए रेलवे ग्रुप D मेडिकल टेस्ट के बारे में जानना बहुत जरूरी है| तो चलिए रेलवे ग्रुप D मेडिकल टेस्ट के बारे में विस्तार से जानते हैं:

Railway Group D Medical Test Details In Hindi

रेलवे ग्रुप D मेडिकल टेस्ट 2023 | Railway Group D Medical Test Details In Hindi

रेलवे ग्रुप D मेडिकल टेस्ट RRB ग्रुप D भर्ती प्रक्रिया का अंतिम चरण है। रेलवे ग्रुप D मेडिकल टेस्ट के लिए चुने गए उम्मीदवारों को मेडिकल टेस्ट में भाग लेने के लिए अपॉइंटमेंट दिया जाएगा। उम्मीदवार मेडिकल टेस्ट में उपस्थित नहीं होने पर उन्हें चयन प्रक्रिया से अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा। विभिन्न ग्रुप D पदों के लिए रेलवे ग्रुप D चिकित्सा मानक इस प्रकार हैं:

पोस्ट   चिकित्सा वर्गीकरण 
Trackman B -1
Helper/TMO B -1
Helper/ Mech. (C &W) B-1
Helper/ Elec/ AC B-1
Porter/ Hamal/ Sweeper-cum-Porter/Optg A-2
Dustman C-1

रेलवे ग्रुप D पदों के लिए चिकित्सा मानक

चिकित्सा मानक

दूर दृष्टि

निकट दृष्टि

मेडिकल फिटनेस टेस्ट

A -2

6/9, 6/9 बिना चश्मे के

0.6, 0.6 बिना चश्मे के

कलर विजन टेस्ट, बाइनोक्यूलर विजन टेस्ट, नाइट विजन, मेसोपिक विजन आदि उत्तीर्ण होना आवश्यक है।

B -1

6/9, 6/12 चश्मे के साथ या बिना चश्मे के (लेंस की शक्ति 4डी से ज्यादा नहीं होनी चाहिए)

0.6, 0.6 चश्मे के साथ या बिना चश्मे के जब पढ़ने या नजदीकी काम की आवश्यकता होती है

कलर विजन टेस्ट, बाइनोक्यूलर विजन टेस्ट, नाइट विजन, मेसोपिक विजन आदि पास होना आवश्यक है।

B -2

6/9, 6/12 चश्मे के साथ या बिना चश्मे के (लेंस की शक्ति 4डी से ज्यादा नहीं होनी चाहिए)

0.6, 0.6 चश्मे के साथ या बिना चश्मे के जब पढ़ने या नजदीकी काम की जरूरत पड़ती है|

दूरबीन दृष्टि के लिए परीक्षण पास करना आवश्यक है|

C -1

6/12, 6/18 चश्मे के साथ या चश्मे के बिना

0.6, 0.6 चश्मे के साथ या बिना चश्मे के जब पढ़ने या नजदीकी काम की जरूरत पड़ती है|

रेलवे ग्रुप D के आवेदकों का लिया जाने वाला मेडिकल टेस्ट/परीक्षा

वे उम्मीदवार जो RRB ग्रुप D पदों के लिए चयनित किया गया है, उन्हें निम्नलिखित चिकित्सीय और शारीरिक परीक्षण से गुजरना होता है-

दूरस्थ दृष्टि परीक्षण

उम्मीदवारों की दृश्य तीक्ष्णता की परीक्षण के लिए दूर दृष्टि परीक्षण आयोजित किया जाता है। स्नेलन के चार्ट के जरिये उम्मीदवारों की दृष्टि स्पष्टता की जाँच की जाएगी। जब आप चिकित्सा जाँच स्थल पर जाएंगे, तो आपको 6 मीटर की दूरी से प्रत्येक श्रेणी में लिखे गए अक्षरों को पढ़ने के लिए कहा जाएगा।

  • यदि आपका अंक 6/6 है, तो इसका मतलब यह हुआ है कि आप 6 मीटर की दूरी पर स्थित किसी भी वस्तु को देख पाएंगे। इसे सामान्य स्थिति कहा जाता है।

  • अगर आपका अंक 6/9 है, तो इसका मतलब यह हुआ कि है कि आप 6 मीटर की दूरी पर स्थित वस्तुओं को देख सकते हैं, जो सामान्य रूप से 9 मीटर दूरी पर स्थित लोगों द्वारा देखा जा सकता है। यह सामान्य स्थिति से कुछ कम है।

  • अगर आपका अंक 6/12 और 6/18 है तो इसका मतलब है कि आप 6 मीटर की दूरी पर स्थित कोई भी शब्द या अक्षरों को पढ़ सकते हैं, जिसे एक सामान्य व्यक्ति 12 मीटर और 18 मीटर की दूरी पर पढ़ सकता है। लेकिन यह सामान्य स्थिति के अंतर्गत नहीं आता है। 

कलर विजन टेस्ट

कलर विजन टेस्ट का इस्तेमाल रंगों में वस्तुओं को अलग करने की क्षमता की जांच के लिए किया जाता है। अगर उम्मीदवार इस परीक्षा में पास नहीं होते हैं तो इसका मतलब उसके रंग दृष्टि खराब है या वह वर्णांध हो सकते हैं। इस टेस्ट में चिकित्सक एक आँख को बंद करने के लिए कहेगा और एक आँख से वह आपको टेस्ट कार्ड की पंक्ति को देखने के लिए कहेगा जो बहुरंगी डॉट पैटर्न के रूप में हो सकते हैं।

प्रत्येक रंग पैटर्न में एक अक्षर या एक चिन्ह होगा। फिर अगली आंख को ढकने के लिए कहेगा होगा और दूसरी आंख की मदद से अक्षर या चिन्ह को पहचानने के लिए कहेगा| इस टेस्ट के जरिए डॉक्टर दोनों आंखों की कलर इंटेंसिटी चेक करेंगे।

रक्त परीक्षण

रक्त परीक्षण में डॉक्टर उम्मीदवार के शुगर टेस्ट और डायबिटीज टेस्ट की जांच करेंगे। डॉक्टर आपके सामान्य स्वास्थ्य का भी परीक्षण करेंगे और देखेंगे कि अन्य अंग किस प्रकार से काम कर रहे हैं या नहीं|

ईसीजी टेस्ट

ईसीजी टेस्ट को इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम टेस्ट भी कहा जाता है। यह हृदय की कार्यक्षमता की जांच के लिए परीक्षण किया जाता है। इसका उपयोग हृदय ताल की अनियमितताओं की जांच के लिए किया जाता है। डॉक्टर हृदय की विद्युत गतिविधि की जांच करेंगे।

मूत्र परीक्षण

मूत्र मार्ग में बीमारी/संक्रमण की जांच के लिए उम्मीदवारों को मूत्र परीक्षण से गुजरना होता है| परीक्षण कुछ सामान्य बीमारियों जैसे किडनी संक्रमण, चयापचय की अवस्था, यकृत की समस्याओं आदि की जांच करेगा। मूत्र परीक्षण उन उम्मीदवारों के लिए लागू होगा जो 30 वर्ष से ज्यादा उम्र के होते हैं|

एक्स-रे टेस्ट

शरीर के अधिकांश भागों की जांच के लिए उम्मीदवारों को एक्स-रे टेस्ट से गुजरना होता है। इनका उपयोग मुख्य रूप से शरीर के जोड़ों और हड्डियों की जांच के लिए किया जाता है। एक्स-रे टेस्ट के जरिए टूटे हुए हड्डियों का पता चलता है|

ईएनटी टेस्ट

ईएनटी टेस्ट में कान, नाक और दांतों का परीक्षण किया जाता है। कुछ अन्य टेस्ट हर्मेनिया और पाइल्स टेस्ट हैं।

PWD उम्मीदवारों के लिए रेलवे ग्रुप D मेडिकल टेस्ट

शारीरिक अक्षमता वाले उम्मीदवारों को शारीरिक दक्षता परीक्षा से नहीं गुजरना पड़ेगा। इसके बजाय, उन्हें ऊपर बताए गए मेडिकल टेस्ट से गुजरना पड़ता है। सभी एक आंख वाले उम्मीदवार जिनकी दृष्टि विकलांगता 40% से कम है, उन्हें दृष्टि विकलांग व्यक्ति नहीं माना जाएगा और उनके लिए मुंशी को नियुक्त करने का प्रावधान लागू नहीं होगा।

ये भी पढ़ें:

FAQ:

प्रश्न: क्या रेलवे ग्रुप D मेडिकल टेस्ट RRB ग्रुप D भर्ती प्रक्रिया का अंतिम चरण है?

उत्तर: हाँ, रेलवे ग्रुप D मेडिकल टेस्ट RRB ग्रुप D भर्ती प्रक्रिया का अंतिम चरण है जो RRB ग्रुप डी सीबीटी, पीईटी और दस्तावेज़ सत्यापन के पूरा होने के बाद होता है|

प्रश्न: मूत्र परीक्षण किसके लिए लागू होता है?

उत्तर: मूत्र परीक्षण उन उम्मीदवारों के लिए लागू होगा जो 30 वर्ष से ज्यादा उम्र के होते हैं|

प्रश्न: ईसीजी टेस्ट को और किस नाम से जाना जाता है?

उत्तर: ईसीजी टेस्ट को इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम टेस्ट के नाम से भी जाना जाता है|

प्रश्न: डॉक्टर रक्त परीक्षण में क्या करता है?

उत्तर: रक्त परीक्षण में डॉक्टर उम्मीदवार के शुगर टेस्ट और डायबिटीज टेस्ट की जांच करते हैं| इसके साथ साथ डॉक्टर उम्मीदवार के सामान्य स्वास्थ्य का भी परीक्षण करेंगे और देखेंगे कि अन्य अंग किस प्रकार से काम कर रहे हैं या नहीं|

FINAL ANALYSIS:

इस लेख में हमने जाना Railway Group D Medical Test Details In Hindi आशा करता हूँ इस लेख को पढ़ने के बाद आपको जानकारी मिल गई होगी कि रेलवे ग्रुप D मेडिकल टेस्ट क्या है, ग्रुप D मेडिकल टेस्ट में क्या होता है| अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं| इस लेख को पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top