Software Engineering Courses After 12th in Hindi – 12वीं के बाद सॉफ्टवेर इंजीनियरिंग कोर्स

नमस्कार दोस्तों , आज के लेख में बात करेंगे Software Engineering Courses After 12th in Hindi , आज हम आपको 12वीं के बाद किये जाने वाला सभी प्रकार के Software Engineering कोर्सेज की सूची बताने वाले हैं | सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग , इंजीनियरिंग की एक शाखा है जो सॉफ्टवेयर के निर्माण, विकास, implementation और रखरखाव से संबंधित है | सॉफ्टवेयर इंजीनियरों की इन दिनों लगभग हर क्षेत्र में मांग है। भारत तेजी से डिजिटलीकरण के और बढ़ रहा है जिससे सॉफ्टवेयर इंजिनियर की मांग भी बढ़ रहा है और रोजगार के कई नए अवसर भी बन रहा है | आइए जानते हैं : Software Engineering Courses After 12th in Hindi

Software Engineering Courses After 12th in Hindi
सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग क्या है?

यह इंजीनियरिंग की एक शाखा है जो सॉफ्टवेयर उत्पादों के विकास से संबंधित है। यह सिद्धांतों, सर्वोत्तम प्रथाओं और विधियों के एक सेट के भीतर संचालित होता है, जिन्हें सॉफ्टवेयर और प्रौद्योगिकी परिवर्तन के रूप में बदलते हुए, वर्षों से सावधानीपूर्वक सम्मानित किया गया है |

Software Engineering Courses After 12th in Hindi

नीचें सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्सेज के सूची दे रहे है , जो आप 12वीं के बाद कर सकते हैं :

  1. B.Tech Computer science / B.Tech Computer science and Information Technology
  2. B.Tech/BE Software Engineering
  3. Bachelor of Computer Applications (BCA)
  4. Diploma in Software Engineering

 

1. B.Tech Computer science / B.Tech Computer science and Information Technology

बी.टेक कंप्यूटर साइंस स्नातक स्तर पर एक बहुत लोकप्रिय पाठ्यक्रम है | 12 वीं के बाद सबसे अच्छा सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स में से एक होने के नाते, बी.टेक कंप्यूटर साइंस आपको प्रौद्योगिकी क्षेत्र में एक सफल कैरियर स्थापित करने के लिए सभी आवश्यक कौशल और जानकारी प्रदान करता है । इस कोर्स का जोर व्यावहारिक प्रशिक्षण पर है और छात्रों में रचनात्मकता की इच्छा पैदा करते हुए कंप्यूटिंग प्रौद्योगिकी की खोज करने की अनुमति है |

योग्यता :

  • 10+2 भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित के साथ।
  • कक्षा 12 में न्यूनतम 50% अंक।
  • कॉलेज में प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा (राष्ट्रीय स्तर, राज्य स्तर या विश्वविद्यालय विशिष्ट)।

कुछ प्रमुख संस्थान: IIT Bombay, IIT Madras, IIT Delhi, Vellore Institute of Technology, SRM University, Delhi Technical University, आदि |

2. B.Tech/BE Software Engineering

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में बी.टेक इंजीनियरिंग के क्षेत्र में जाने के इच्छुक लोगों के लिए यह एक लोकप्रिय विकल्प है। यह चार साल की स्नातक डिग्री है जो software development, software design, software testing, और software maintenance पर केंद्रित है। यह कोर्स उन व्यक्तियों के लिए सबसे उपयुक्त है जो software के बारें में जानना चाहते हैं , कोडिंग सीखना चाहते हैं , यूजर इंटरफ़ेस के बारें में जानना चाहते हैं आदि | बी.टेक सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग 12वीं के बाद सबसे अधिक छात्रों द्वारा सबसे अधिक चुने जाते हैं |

योग्यता :

  • साइंस स्ट्रीम से 12वीं पास (भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और गणित अनिवार्य विषयों के रूप में) किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से।
  • कक्षा 10+2 में न्यूनतम 60% अंक प्राप्त करने चाहिए।
  • कॉलेजों में प्रवेश के लिए JEE या विश्वविद्यालय-विशिष्ट परीक्षा जैसे SRMJEE, Viteee, आदि होता है |

कुछ प्रमुख संस्थान: IIT Madras, Vellore Institute of Technology (VIT), SRM University, BITS, आदि |

3. Bachelor of Computer Applications (BCA)

कंप्यूटर एप्लीकेशन में स्नातक, जिसे BCA के नाम से भी जाना जाता है, 12वीं के बाद तीन साल का सबसे लोकप्रिय सॉफ्टवेयर डेवलपर कोर्स में से एक है | इस कोर्स में आपको कंप्यूटर से जुड़े सभी प्रकार की चीजों के बारें में सिखाया जाता है जैसे computer fundamentals, programming languages, database systems, information security, और web development आदि |

योग्यता :

  • किसी भी स्ट्रीम से 10+2 पास होना चाहिए |
  • कक्षा 12 में न्यूनतम 55% अंक हों।
  • कुछ संस्थान गणित के सवाल पूछ सकते हैं |

कुछ प्रमुख संस्थान: Delhi Skill and Entrepreneurship University (DSEU), Symbiosis Institute of Computer Studies and Research, Christ University, Loyola College आदि|

4. Diploma in Software Engineering

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में डिप्लोमा उन छात्रों के लिए बनाया गया है जो 10 वीं कक्षा के ठीक बाद कंप्यूटर और सॉफ्टवेयर विकास का अध्ययन करना चाहते हैं। डिप्लोमा कार्यक्रम तीन साल का होता है | यह आईटी उद्योग में एक सफल कैरियर स्थापित करने में आपकी सहायता करता है | दसवीं कक्षा पास कर चुके छात्र इस कोर्स में दाखिला लेने के योग्य बन जाते हैं | यह डिप्लोमा कोर्स theoretical ज्ञान की तुलना में practical कौशल पर अधिक जोर देता है |

योग्यता :

  • किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं पास होना चाहिए |
  • 10वीं में गणित मुख्य विषय के रूप में होना चाहिए |

कुछ प्रमुख संस्थान: Thapar Polytechnic College, Chandigarh Polytechnic College, LPU jalandhar, Guru Nanak Dev Polytechnic College, etc. आदि |

ये भी पढ़ें :

 Inshot app क्या है?

MS Course क्या है?

FAQ:

1. एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी कितनी होती है?

उत्तर : एक सॉफ्टवेयर डेवलपर एक साल से कम के अनुभव के साथ लगभग ₹460,000 प्रति वर्ष कमा सकता है । 1 से 4 साल के अनुभव के साथ सॉफ्टवेयर डेवलपर को लगभग 6 लाख प्रति वर्ष मिलता है। 5 से 9 साल के अनुभव वाला एक सॉफ्टवेयर डेवलपर भारत में ₹1,200,000 प्रति वर्ष कमाता है |

2. क्या कोडिंग एक अच्छा करियर है?

उत्तर : हां, कोडिंग एक अच्छा करियर है क्योंकि इसमें करियर के भरपूर अवसर मौजूद है , और इस क्षेत्र में काम करने वालों को अच्छे पैसे मिलते हैं | अभी तेजी से इंडिया डिजिटल हो रहा है , जिससे कोडिंग में ढेर सारे अवसर पैदा हो रहे हैं |

FINAL ANALYSIS:

आज के लेख में हमने जाना की Software Engineering Courses After 12th in Hindi | हमें उम्मीद है कि इस लेख ने आपको 12वीं के बाद एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के बारे में आवश्यक जानकारी मिला होगा | भारत की तेजी से बढ़ती प्रौद्योगिकी और सूचना क्षेत्र के कारण इस कोर्स की मांग बढ़ गया है | इस कोर्स को करने के बाद करियर के बहुत सारे अवसर उपलब्ध है | आशा करता हूँ की आपको यह लेख पसंद आया होगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here