Top Hindi Jankari

TOP HINDI JANKARI हिंदी वेबसाइट पर आपको बहुत ही आसान और सरल भाषा में जानकारी दी जाती है । यह वेबसाइट बनाने का मुख्य कारण है हिंदी भाषा से आपको विभिन्न प्रकार के जानकारियां आप तक सही तरीके से पहुंचे ।

World Food Safety Day 2023: आज है विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस, जानिए इनका इतिहास और महत्व

खाद्य सुरक्षा एक महत्वपूर्ण मुद्दा है जो विश्वभर में व्यक्तियों के स्वास्थ्य और कल्याण पर प्रभाव डालता है। विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस एक अंतरराष्ट्रीय उपलब्धि है जिसका उद्देश्य जागरूकता बढ़ाना और कार्रवाई को बढ़ावा देना है ताकि हमारे सेवन किए जाने वाले भोजन की सुरक्षा सुनिश्चित हो सके। यह लेख विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस की उत्पत्ति, उद्देश्य और महत्व का पता लगाने के साथ-साथ खाद्य सुरक्षा के महत्व को जानकारी देता है और इसे सुनिश्चित करने के उपाय प्रदान करता है।

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस की उत्पत्ति (इतिहास)

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस की उत्पत्ति बढ़ते वैश्विक चिंता के पीछे छिपी खाद्य सुरक्षा के कारणों के लिए की जा सकती है। 2018 में, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने खाद्य सुरक्षा के महत्व को मान्यता दी और 7 जून को वार्षिक अवधि के रूप में विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस घोषित किया। इस दिन का मकसद सुरक्षित भोजन के प्रयासों, उचित भोजन तैयारी के और खाद्य संक्रमण से बचाव के लिए जागरूकता बढ़ाना था।

इस साल की थीम (Theme for World Food Safety Day 2023)

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा देखे जाने वाले वार्षिक स्मरणोत्सव में प्रत्येक वर्ष एक केंद्रीय विषय निर्धारित किया जाता है। 2023 के वर्तमान वर्ष में, चुने गए विषय में “खाद्य मानक जीवन बचाते हैं” वाक्यांश को उपयुक्त रूप से शामिल किया गया है, जो व्यक्तियों से जीविका के संबंध में स्थापित बेंचमार्क के सर्वोपरि महत्व को पहचानने का आग्रह करता है। इसके विपरीत, 2022 के पूर्ववर्ती वर्ष में, नामित विषय ने “सुरक्षित भोजन बेहतर स्वास्थ्य” की धारणा को समझाया।

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस के उद्देश्य

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस के प्रमुख उद्देश्य हैं:

A. जागरूकता बढ़ाना

एक मुख्य उद्देश्य है लोगों की खाद्य सुरक्षा के महत्व को बढ़ाना है। खतरनाक भोजन और आवश्यक सुरक्षा उपायों के साथ जुड़े जानकारी के द्वारा, विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस लोगों को जागरूक बनाने का उद्देश्य रखता है।

B. सहयोग प्रोत्साहित करना

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस में सरकारों, अंतरराष्ट्रीय संगठनों, खाद्य उत्पादकों, विपणन कार्यों, और आम लोगों को एक साथ आने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। इसके माध्यम से विभिन्न स्तरों पर सहयोग को बढ़ावा दिया जाता है ताकि खाद्य सुरक्षा के मामले में सुधार हो सके।

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस का महत्व

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस का महत्व प्रमुखतः निम्नलिखित कारणों से है:

A. सार्वभौमिक स्वास्थ्य सुरक्षा

खाद्य सुरक्षा के माध्यम से सार्वभौमिक स्वास्थ्य सुरक्षा सुनिश्चित होती है। सुरक्षित भोजन के सेवन से लोगों को खाद्य संक्रमण जैसी बीमारियों से बचाने का अवसर मिलता है और उनके स्वास्थ्य और कल्याण को बढ़ावा मिलता है।

B. आर्थिक विकास

खाद्य सुरक्षा आर्थिक विकास को बढ़ावा देती है। सुरक्षित खाद्य उत्पादों की उचित प्रबंधन से उद्यमों को विश्वव्यापी व्यापार में विश्वास बना रहता है। यह उत्पादकों, निर्यातकों, और आयातकों के लिए सुगम भोजन की प्रवाह को सुनिश्चित करके आर्थिक विकास को समर्थन करती है।

खाद्य सुरक्षा का महत्व

खाद्य सुरक्षा मानव समाज के लिए महत्वपूर्ण है। निम्नलिखित कारणों से यह महत्वपूर्ण है:

A. स्वास्थ्य सुरक्षा

खाद्य सुरक्षा स्वास्थ्य सुरक्षा को सुनिश्चित करती है। सुरक्षित और गुणवत्ता युक्त खाद्य उत्पादों का सेवन करने से खाद्य संक्रमण और पोषण संबंधी बीमारियों का खतरा कम होता है। यह स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डालता है और लोगों को स्वस्थ रहने में मदद करता है।

B. पोषण सुरक्षा

खाद्य सुरक्षा पोषण सुरक्षा को सुनिश्चित करती है। सार्वभौमिक खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने से लोगों को पूरे पोषण के साथ विभिन्न पोषक तत्वों की आवश्यकता पूरी होती है। इससे खाद्य असुरक्षितता से होने वाली पोषण संबंधी समस्याओं को कम किया जा सकता है।

C. सामाजिक महत्व

खाद्य सुरक्षा सामाजिक महत्व रखती है। इसके माध्यम से अधिकारीयों को गरीब और निर्दोष लोगों को सही खाद्य सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित करने का अवसर मिलता है। यह सामाजिक समानता और समाज में न्याय को समर्थन करता है।

खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के उपाय

खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हमें निम्नलिखित उपायों का पालन करना चाहिए:

A. संरक्षण और संचय

खाद्य संसाधनों का संरक्षण और संचय महत्वपूर्ण है। इसके लिए खाद्य उत्पादों की सही रखरखाव, पैकेजिंग, भंडारण, और परिवहन प्रणाली का सुनिश्चित करना आवश्यक है।

B. खाद्य सुरक्षा नीतियों का प्रचार

सरकारों को सक्रिय रूप से खाद्य सुरक्षा नीतियों का प्रचार करना चाहिए। इसके साथ ही अनुकरणीय और कठोर नियमों का पालन करना जरूरी है।

C. कृषि विकास और प्रौद्योगिकी

कृषि विकास और प्रौद्योगिकी को समर्थन करना चाहिए। खेती में नवीनतम तकनीकी उन्नति और वैज्ञानिक अनुसंधान से उत्पादकता और उपज की गुणवत्ता में सुधार होता है।

D. जनसंख्या नियंत्रण

जनसंख्या नियंत्रण और परिवार नियोजन के माध्यम से खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित की जा सकती है। जनसंख्या की बढ़ती मात्रा के साथ खाद्य मांग भी बढ़ती है, इसलिए जनसंख्या नियंत्रण महत्वपूर्ण है।

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस हमें खाद्य सुरक्षा के महत्व को समझने और इसके लिए जागरूकता पैदा करने का मौका देता है। इस दिन को मनाकर हम एक साथ योजनाएं बना सकते हैं और खाद्य सुरक्षा के लिए समर्पितता जता सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top